अपने अधिकारों के लिए होगी आर-पार की लड़ाईः रामलाल गुप्ता

-नई दिल्ली में दो जून को तेली एकता रैली का होगा आयोजन

अखिल भारतीय तैलिक साहू महासभा आगामी दो जून को राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में "तेली एकता रैली" का आयोजन करने जा रही है। रैली की तैयारी के लिए अपने चार दिवसीय बिहार यात्रा के अंतिम दिन पटना में बुधवार को संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री रामलाल गुप्ता ने कहा कि तेली समाज राष्ट्रीय स्तर पर एक बड़ी आबादी वाली जाति है। देश भर में करीब 14 करोड़ आबादी वाली तेली जाति आज भी सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक व राजनैतिक रूप से काफी पिछड़ी हुई है। श्री गुप्ता ने कहा कि आबादी के अनुसार तेली समाज से करीब साठ सांसद और साढ़े पांच सौ विधायक होने चाहिए। लेकिन देश भर में महज़ सात सांसद और मात्र चालीस विधायक हैं। विभिन्न निगमों ,बोर्डों, सहित अन्य सरकारी संस्थाओं में भी हमारी संख्या नगण्य है। बिहार, झारखंड से किसी भी एक सांसद का न होना लोकतांत्रिक व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री मंडल में जहां एक ही जाति वर्ग के कई मंत्री हैं, वहीं तेली समाज का एक भी मंत्री का न होना दुर्भाग्यपूर्ण है। तेली समाज अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष और महाराष्ट्र से विधायक, पूर्व मंत्री जयदत्त क्षीरसागर के नेतृत्व में अपने शक्ति का प्रदर्शन कर सभी राजनैतिक दलों के सामने सामाजिक एकजुटता का प्रदर्शन करेगी। इस रैली में पूरे बिहार से तेली समाज के करीब पांच हजार प्रतिनिधि और नेता हिस्सा लेंगे।

श्री गुप्ता ने कहा कि रैली का उद्देश्य समाज को जनसंख्या के मुताबिक विभिन्न राजनैतिक दलों से टिकट की मांग करने के साथ-साथ तेली समाज का सर्वांगीण विकास के लिए नीतियों का निर्माण कराना है। तेली समाज ने "टिकट नहीं तो वोट नहीं और भागीदारी नहीं तो साझीदारी नहीं" का नारा दिया है। महासभा की मांग है कि केंद्र सरकार 2011 की जाति जनगणना को जारी करे। साथ ही राजधानी दिल्ली में तेली समाज के छात्र-छात्राओं के बेहतर भविष्य के निर्माण के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा कम-से-कम एक हजार वर्ग मीटर की जमीन का आवंटन किया जाय जिस पर छात्रावास का निर्माण कराया जा सके। तेली समाज की आराध्य देवी मां कर्मा के नाम पर डाक टिकट जारी किए जाएं। जैसा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल द्वारा महाराष्ट्र के संत संता जी जगनाडे के नाम पर टिकट जारी किया गया है। संपूर्ण भारत के सभी राज्यों एवं केंद्रीय स्तर पर बिहार, झारखण्ड की तर्ज पर तेली जाति को अति पिछड़ी श्रेणी में रखने की मांग की गई है।

इस अवसर पर अखिल भारतीय तैलिक साहु महासभा के राष्ट्रीय युवा महामंत्री श्शिव कुमार प्रसाद साहू ने बताया की "तेली एकता रैली" का उदेश्य कहीं से भी जातिवाद को बढ़ावा देना नहीं है बल्कि जाति के आधार पर तेली समाज अपनी उपेक्षा का प्रतिकार कर देश के सत्ता शासन को अपनी उपेक्षा के प्रति आगाह कर देश के सर्वांगीण विकास मे अपना सम्पूर्ण योगदान देना है|

वहीं इस मौके पर अखिल भारतीय तैलिक साहू महासभा के राष्ट्रीय युवा उपाध्यक्ष मुकेश कुमार नंदन जी ने कहा की बिहार से पाच हजार तैलिक बन्धु स्पेशल ट्रेन की बुकिंग के साथ अपने हक के लिये अपनी बुलंद आवाज के साथ तालकटोरा स्टेडियम नई दिल्ली पहुंचेंगे। इसके साथ ही इस अवसर पर राष्ट्रीय कार्यकारी युवा अध्यक्ष मंजीत आनंद सहित समाज के कई गणमान्य तैलिक बन्धुओं की गरिमामयी उपस्थिति थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *