होली बीती, सरयू राय अब कब बोलेंगे !

झारखंड के वरिष्ठ मंत्री सरयू राय ने कुछ समय पहले कहा था कि वो होली के बाद बोलेंगे. वो राजबाला वर्मा को राज्य सरकार द्वारा दण्डित किये जाने का इंतज़ार ही करते रहे और बिना किसी दंड के राजबाला मुख्य सचिव पद से रिटायर भी हो गयीं. राज्य सरकार ने सेवा निवृति के दो दिन पहले उन्हें चेतावनी देकर तमाम कवायदों से बरी कर दिया. इसपर सरयू राय का बयान भी आया कि सरकार ने गलत किया है, सरकार ऐसा नहीं कर सकती, वगैरह-वगैरह. लेकिन राजनीति की सच्चाई तो यही है कि सीबीआई के लगातार नोटिसों के बाद भी राजबाला ने कभी जवाब देना उचित नहीं समझा. लालू के बेहद करीब रही, चारा घोटाले में नाम आया फिर भी ठसक से झारखण्ड की सत्ता चलाती रही. किसी मंत्री या जन प्रतिनिधि की कभी कोई परवाह नहीं. ऐसे में राज्य सरकार की चेतावनी अब उनके किस काम की. क्या जब वो मुख्यमंत्री की सलाहकार बनेंगी, तब यह चेतावनी उनके काम आएगी!

ऐसे में लोगों को उम्मीद थी कि अपने कहे अनुसार सरयू राय कुछ बड़ा बोलेंगे. कुछ बड़ा खुलासा करेंगे! होली तो बीत चुकी है. ऐसे में शायद वो राजबाला पर बड़ा हमला करें. वैसे भी राजबाला वर्मा की मुसीबतें अब बढने वाली हैं. रांची हाईकोर्ट में कई पीआईएल अपनी सुनवाई का इंतज़ार कर रहे हैं. सारे पीआईएल किसी ना किसी घोटाले से सम्बंधित हैं. जब मामला हाईकोर्ट में देखा जायेगा तो सच सामने आएगा.

सरयू राय राजबाला के बेटे की कम्पनी को लेकर सवाल उठा ही चुके हैं. प्रकारांतर से वो राजबाला की आय से अधिक संपत्ति का किस्सा सार्वजनिक कर चुके हैं. अब क्या उजागर करना शेष है! क्या पूर्व मुख्य सचिव का कोई नया घोटाला. किसी ठेका कम्पनी से उनके रिश्ते बेपर्द होंगे! ऐसे कई कयास हैं जो लोग अपने अपने हिसाब से लगा रहे हैं.

सरयू राय कुछ ना कुछ तो बोलेंगे और प्रदेश का सियासी तापमान बढ़ाएंगे! जिस तरह वो लगातार केबिनेट की बैठकों में नहीं जा रहे और मुख्यमंत्री से जैसा अबोलापन दिख रहा है, उसमे वो क्या केबिनेट से बाहर आने का फैसला कर लेंगे. हालांकि सरयू राय को जो जानते हैं वो कहते हैं कि राय साहेब मैदान छोड़कर कभी नहीं भागते. डटकर मैदान में ही दुश्मन को परास्त करते हैं. ऐसे में होगा क्या...यह देखना बड़ा ही दिलचस्प होनेवाला है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *