अरिजीत शाश्वत की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रहीः तेजस्वी

बिहार विधानसभा में मंगलवार को विपक्ष ने केंद्रीय मंत्री अश्वनी चौबे के बेटे अरिजीत शाश्वत की गिरफ्तारी को लेकर जमकर हंगामा किया। राजद और कांग्रेस ने इस मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव की मांग की। जिसके कारण सदन को स्थगित करना पड़ा। राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि बीजेपी जानबूझ कर दंगा करवाना चाहती है। राज्य में जानबूझकर सांप्रदायिक महौल खराब किया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि सीएम कानून के राज की बात करते हैं फिर अरिजीत शाश्वत की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही।

इसके साथ ही विपक्ष ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह द्वारा दरभंगा में डीएसपी के खिलाफ नारेबाजी के लिए उसकाने वाले वीडियो पर भी कार्रवाई की मांग की। कांग्रेस के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि ये जानबूझ कर सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने का मामला है, पुलिस ने अरिजीत को बचाने के लिए उस पर हल्के मामलों का इस्तेमाल किया है ताकि उसे बेल मिल जाए। कांग्रेस ने कहा कि 1989 में जब भागलपुर में दंगा हुआ था तब के एसपी अभी के बिहार के डीजीपी हैं।

गौरतलब है कि भागलपुर के नाथनगर में शनिवार को दो समुदायों के बीच हुए विवाद के बाद भागलपुर प्रशासन ने केंद्रीय मंत्री अश्वनी कुमार चौबे के बेटे अरिजीत शाश्वत चौबे समेत 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है। इनके ऊपर बिना इजाजत का जूलुस निकालने और इस दौरान आपत्तिजनक गाना बजाने का आरोप लगाया गया है।

बहरहाल, एसएसपी मनोज कुमार ने कहा है कि जल्द ही इन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उधर, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने मामले की जांच की मांग करते हुए कहा कि इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए ताकि दूध का दूध पानी का पानी सामने आ जाए। उन्होंने कहा है कि भाजपा के सभी कार्यकर्ता मेरे बेटे की तरह हैं। हिंदू नव वर्ष मनाने के लिए आयोजित की गई रैली का प्रतिनिधित्व करने में क्या गलत है? क्या भारत माता की बात करना गलत है? क्या वंदे मातरम कहना गलत है?

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *