सिल्ली की जीत से तय होगी झारखंड की तस्वीर!

सिल्ली विधानसभा के लिए उपचुनाव की अधिसूचना जारी होते ही क्षेत्र में राजनीतिक दलों की गहमागहमी बढ़ गई है। सभी दलों के नेताओं ने इस क्षेत्र की ओर रुख करना शुरू कर दिया है। वहीं, इस सीट को लेकर चर्चा का बाजार गर्म हो गया है। कहा जा रहा है कि आजसू के सामने बीजेपी भी अपना उम्मीदवार खड़ा कर सकती है।

इन सब के बीच झारखंड के कद्दावर नेता और आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो पिछले 4 सालों से अपने विधानसभा क्षेत्र में लगातार दमदार तरीके से काम कर रहे हैं। सिल्ली आजसू का गढ़ और उनका अपना विस सीट रहा है। जानकारों की मानें तो जिस प्रकार उन्होंने पिछले 4 वर्षों में जनता के बीच बगैर विधायक रहे काम किया है उससे उनकी एक अलग छवि उभर कर सामने आई है। इसका लाभ उन्हें इस उपचुनाव में मिलता दिखाई दे रहा है। जानकारों की मानें तो सुदेश महतो ने जनहित के मुद्दों पर जिस प्रकार सरकार को सावधान किया है और लोगों के हित में फैसला करने के लिए विवश किया है, उससे उनका कद बढ़ा है और पूरे प्रदेश में जूझारू और बेबाक जन नेता के तौर पर उनकी स्वीकार्यता में बनी है। इसका असर न सिर्फ सिल्ली के चुनाव में दिखेगा बल्कि गोमिया और फिर आगामी 2019 के विस चुनाव में भी दिखाई देगा।

जानकार कहते हैं कि आजसू सूबे की सियासत को नई दिशा देने जा रहा है और जल्द ही इसकी तस्वीर दिखाई देगी। बहरहाल, ऐसा कहा जा रहा है कि बीजेपी की ओर से रांची के सांसद रामटहल चौधरी के पुत्र रणधीर चौधरी के अलावा अमर चौधरी और युवा मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष रमाकांत महतो ने सिल्ली में अपनी गतिविधियां तेज कर दी है। उधर, झामुमो से अमित महतो की पत्नी चुनाव लड़ सकती हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *