पेट्रोल पर कंट्रोल करने को कह सकता है RSS

मिशन 2019 को ध्यान में रखते हुए सभी दलों ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी इसको लेकर पिछले 17 मई को बीजेपी के विभिन्न मोर्चों की बैठक बुलाई थी। सरकार और संगठन के बीच समन्वय बनाकर काम करने की कोशिश को आगे बढ़ाते हुए लोकसभा चुनाव को लेकर रणनीति बन रही है। उधर, कई मुद्दे ऐसे हैं जिन पर विपक्ष मोदी सरकार पर लगातार हमले कर रहा है। केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर आरएसएस ने केंद्र सरकार और बीजेपी के कामकाज की समीक्षा शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि संघ से जुड़े विभिन्न संगठनों और बीजेपी के बीच तीन दिन चलने वाली समन्वय बैठक के दूसरे दिन आज सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया के विनिवेश और पेट्रोल, डीजल की महंगाई का मुद्दा उठ सकता है।

कहा जा रहा है कि ये मुद्दे अहम हैं और इसको लेकर कोई ठोस पहल करना जरूरी है। संघ के संयुक्त महासचिव कृष्ण गोपाल की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, वित्त एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य एवं उद्योग तथा नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु के हिस्सा लेने की उम्मीद है। वहीं बताया जा रहा है कि बैठक में भारतीय मजदूर संघ, भारतीय किसान संघ, लघु उद्योग भारती और स्वदेशी जागरण मंच जैसे संघ के आर्थिक समूह अपनी रिपोर्ट पेश करेंगे। इसके अलावा मोदी सरकार की विभिन्न आर्थिक नीतियों के मामले में अपना फीडबैक भी देंगे।

बता दें कि भारतीय मजदूर संघ और स्वदेशी जागरण मंच भी मौजूदा तरीके से एअर इंडिया के विनिवेश का विरोध कर रहे हैं। मंच का कहना है कि एयर इंडिया को परिचालन मुनाफा हो रहा है लेकिन भारी कर्ज की वजह से वह घाटे में चल रही है। मंच ने सुझाव दिया कि सरकार को इस राष्ट्रीय विमानन कंपनी के कर्ज का भुगतान करने के लिए उसकी संपत्तियों का मौद्रिकरण करना चाहिए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *