इंतज़ार ख़त्म, राहुल के हाथों में कांग्रेस की कमान

लम्बे समय से चले आ रहे संशय पर आख़िरकार विराम लग ही गया. कांग्रेस की कमान राहुल गांधी के हाथों सौंपने का निर्णय ले लिया गया है. पार्टी के अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी की ताजपोशी का दिन तय हो गया है. सोमवार सुबह कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में इस बाबत एक प्रस्ताव पास कर दिया गया है. सुबह तकरीबन एक घंटे चली CWC की बैठक में पार्टी के सांगठनिक चुनावों और राहुल के अध्यक्ष पद पर ताजपोशी को लेकर चर्चा हुई थी.

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नोटिफिकेशन 1 दिसंबर को जारी होगा. 11 दिसंबर नाम वापसी का आखिरी दिन होगा. अगर राहुल के अलावा कोई और उम्मीदवार हुआ तो 16 दिसंबर को मतदान होगा. वोटों की गिनती 19 दिसंबर को होगी. ऐसे में माना जा रहा कि राहुल के अध्यक्ष बनने का ऐलान 19 दिसंबर को होगा. हालांकि बैठक में शामिल एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने दावा किया कि राहुल गांधी 11 दिसंबर को ही कांग्रेस अध्यक्ष बन जाएंगे. 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर बैठक सुबह 10.30 बजे शुरू हुई बैठक में सबसे ज्यादा चर्चा राहुल की ताजपोशी की ही थी. संभावना जताई जा रही थी कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी पार्टी अध्यक्ष के लिए चुनावों की घोषणा कर सकती है.
कांग्रेस महासचिव अंबिका सोनी ने कहा कि गुजरात में चुनावी प्रचार की सफलता का श्रेय और नोटबंदी और जीएसटी के मुद्दे पर विपक्ष की सफल अगुवाई का श्रेय कांग्रेस उपाध्यक्ष को जाता है.

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि राहुल गांधी ने आगे बढ़कर अगुवाई की है और बहुत ही क्षमतावान नेता हैं. आजाद ने कहा कि ये कुछ ही दिनों की बात है, जब पार्टी को नया अध्यक्ष मिल जाएगा. राहुल गांधी आगे बढ़कर पार्टी का नेतृत्व करेंगे. इस बीच लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि वर्किंग कमिटी की बैठक में निर्णय होने की उम्मीद है. हम सब पार्टी अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी के नेतृत्व के लिए तैयार हैं.

रोहतक से कांग्रेस के सांसद दीपेंदर हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता पार्टी अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी को देखना चाहते हैं. उनके पार्टी अध्यक्ष बनने से संगठन को काफी मजबूती मिलेगी. इसके साथ ही सभी प्रदेशों के इंचार्ज भी इसमें हिस्सा लेंगे. गौरतलब है इस चुनावी प्रक्रिया से पहले ही तमाम राज्यों में कांग्रेस के सदस्यों का चयन करने के लिए पोलिंग हो चुकी है. लगभग सभी राज्यों ने कांग्रेस अध्यक्ष के लिए राहुल गांधी का नाम सर्वसम्मति से पारित भी किया है. ऐसे में तमाम राज्यों के इंचार्ज राज्य इकाइयों के प्रस्ताव को भी भी पेश करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस केंद्रीय चुनाव समिति की तरफ से कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की प्रस्तावित तारीख समिति ने कांग्रेस अध्यक्ष को दे दी है. हालांकि समिति इसमें बदलाव कर सकती है. अगर कांग्रेस अध्यक्ष के लिए सिर्फ राहुल गांधी ही नॉमिनेशन भरते हैं और कोई दूसरा उम्मीदवार नहीं होता तो इसका मतलब है 1 दिसंबर ही को डिक्लेयर कर दिया जाएगा की कि राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गए हैं. 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *