युवाओं के सीने पर SC, ST लिखना संविधान पर हमलाः राहुल

कांग्रेस एसटी, एससी मुद्दे को हर हाल में बनाए रखना चाहती है। ताकि चुनावी माहौल में इसे अच्छी तरह भुनाया जाए। एक तरफ जहां विपक्ष एसटी, एससी के कानून में संशोधन को लेकर सरकार को घेर रहा है वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार ने इसको लेकर अध्यादेश लाने की बात कही है। इन सब बीच मध्यप्रदेश में आरक्षकों की भर्ती के लिए आए अभ्यार्थियों के सीने पर एससी-एसटी लिखने का मामला प्रकाश में आया है। इस मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी सरकार के जातिवादी रवैये ने देश की छाती पर छुरा मारा है। राहुल ने कहा कि मध्य प्रदेश में युवाओं के सीने पर एससी-एसटी लिखकर बीजेपी ने देश के संविधान पर हमला किया है। बताया जा रहा है कि मध्यप्रदेश के धार जिला अस्पताल में आरक्षकों की भर्ती के लिए आए अभ्यार्थियों के मेडिकल टेस्ट के दौरान सीने पर एससी-एसटी लिखने के बाद से ही देशभर से प्रतिक्रियाएं आना शुरू हो गई हैं।

राहुल ने ट्वीट कर कहा कि ये बीजेपी/आरएसएस की सोच है। यही सोच कभी दलितों के गले में हांडी टंगवाती थी, शरीर में झाडू बंधवाती थी, मंदिर में घुसने नहीं देती थी। हम इस सोच को हराएंगे। आपको बता दें कि धार जिले में कॉन्सेटबल के पद के लिए भर्ती के लिए आए अभ्यर्थियों की पहचान के लिए जिला अस्पताल ने अभ्यार्थियों के सीने पर एससी-एसटी लिख दिया था। इस खबर के फैलते ही देशभर में हड़कंप मच गया था। वहीं इस मामले पर अस्पताल प्रबंधन ने कहा था कि कुछ समय पहले महिला आरक्षक की ऊंचाई नापने में हुई गड़बड़ी को ध्यान में रखते हुए ऐसा किया गया था। आरक्षित वर्ग की ऊंचाई नापने में कोई गड़बड़ न हो, इसलिए अलग-अलग वर्ग के अभ्यर्थियों के सीने पर उनकी जाति लिख दी गई थी। वहीं अधिकारी इस मामले की जांच और दोषियों पर कार्रवाई की बात की।

गौरतलब है कि सामान्य और दूसरे पिछड़ा वर्ग के लिए 168 सेमी और एससी-एसटी के लिए 165 सेमी की ऊंचाई निर्धारित की गई है। अभ्यर्थियों की संख्या अधिक होने के कारण ऊंचाई मापने में कोई गलती न हो, इसलिए मेडिकल टेस्ट करने वाली टीम ने अभ्यार्थियों के सीने पर जाति सूचक निशान बना देने के इस मामले ने तूल पकड़ लिया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *