बीजेपी के खिलाफ एकजुट रहेगा विपक्ष

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में सूबे के विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए। समारोह के दौरान जिस प्रकार से नेता एक-दूसरे से मिल रहे थे उससे एक बात तो साफ है कि आने वाले दिनों में बीजेपी के खिलाफ देश की हर सूबे में महागठबंधन बनेगा। उधर, झारखण्ड में भी नए राजनीतिक समीकरण बनेंगे इससे इनकार नहीं किया जा सकता है। बता दें कि कार्यक्रम में राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन के शामिल हुए।

राज्य में दोनों सीटों पर हो रहे उपचुनाव में झामुमो के उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं और उन्हें राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टियों कांग्रेस, झाविमो लेफ्ट का समर्थन मिला है। साथ ही विपक्षी दलों के नेता भी गोमिया और सिल्ली में चुनाव प्रचार में भी जुटे हैं। यह पहला मौका है जब विपक्षी दल पूरी तरह से एकजुट होकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

हालांकि विपक्षी एकजुटता की कवायद पिछले काभी दिनों से हो रही है। कहा जा रहा है कि चारा घोटाले की सुनवाई के दौरान लगातार पटना से रांची आ-जा रहे राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने सूबे में विपक्षी दलों की एकजुटता में अहम रोल अदा किया था।

रांची में लालू के प्रवास के दौरान झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल ने कई बार उनसे मुलाकात की ।यही नहीं दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोरेन और अपने पार्टी के नेताओं को साथ मिलकर काम करने को भी कहा।

झामुमो केन्द्रीय महासचिव विनोद पाण्डेय की मानें तो इसी एकजुटता के साथ विपक्ष आनेवाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव भी लड़ेगा और अपनी ताकत दिखाएगा। उधर, बीजेपी प्रवक्ता दीनदयाल बर्णवाल का मानना है कि यह पहला मौका नहीं है जब विपक्षी एकजुट होने की कोशिश में लगे हैं। इनकी दशा पहले जैसे ही होगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *