MP में गरजे PM, कहाः प्रदेश में ढाई CM की सरकार है, यहां बच्चों के अपहरण के बाद हत्या आम है

मध्य प्रदेश के सारग में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी ने प्रदेश के मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ढाई सीएम की सरकार चल रही है। जब से कांग्रेस की सरकार बनी है यहां ट्रांसफर उद्योग शुरू हो गया है। कानून व्यवस्था की स्थिति ऐसी है कि मासूम बच्चों के अपहरण के बाद हत्या कर दी जा रही है। महिलाओं के साथ अत्याचार की घटनाए रोज सामने आ रही हैं। यहां कांग्रेस का कुशासन चरम पर है।

 प्रधानमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में ढाई सीएम की सरकार है। कर्जमाफी के नाम पर किसानों से वोट ले लिया और फिर मुकर गए। गरीबों और आदिवासियों से अन्याय की इनकी आदत पुरानी है। धनमोह और पुत्रमोह में फंसे यहां के कांग्रेस नेताओं ने मध्य प्रदेश को बरबादी के रास्ते पर चलाना शुरू कर दिया है। इन्होंने ट्रांसफर उद्योग खड़ा कर दिया है। छोटे बच्चों का अपहरण के बाद हत्याएं हो रही है, बेटियों के साथ अपराध की खबरें लगातार सामने आ रही हैं।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पार्टी के अतित का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस ने देश की कई पीढ़ियों के साथ अन्याय किया हैं। भारत में जो काम आजादी के 25 साल में हो जाने चाहिए थे उन्हें कांग्रेस की सरकारों ने नहीं किया। उन 25 सालों में हर भारतीय के पास बिजली, शौचालय की सुविधा होना चाहिए थी। हर भारतीय की रसोई धुंए से मुक्त होना चाहिए थी, सभी के पास बैंक अकाउंट होना चाहिए था। लेकिन कांग्रेस की सरकारों ने ऐसा कुछ नहीं किया। हमारी सरकार आजादी के 75 साल पूरे होने से पहले इन जरूरी कामों को पूरा करने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि इन्होंने फॉर्म भरवा कर पैसे बटोरे। जब मैं गुजरात में था तो इन्होंने आदिवासी इलाकों में जाकर फॉर्म बांटे और कहा कि यह भर दो आपको सरकार बनने पर आपको जमीन मिलेगी। इसके बदले में उनसे 200-200 रुपए भी ले लिए। एक मकान बनवाकर लोगों से पैसे ले लिए और कहा सरकार बनने पर आपको मकान देंगे। राजस्थान में तो इनका घोटाला उजागर हो गया है, लोगों से चेक जैसा 72 हजार रुपए का फॉर्म भरवा लिया। ये झूठ बोलना और फ्राड करना कांग्रेस के स्वभाव में है। मध्य प्रदेश में भी ऐसा जरूर हुआ होगा, ये कुछ दिन बाद सामने आ जाएगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *