55 वें गवाह ने फ़ंसा दिया लालू प्रसाद को

चारा घोटाले के 55 वें गवाह की गवाही ने लालू प्रसाद की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. लगता है यह गवाही राजनीति के मास्टर स्ट्रोक चलाने वाले लालू प्रसाद पर महंगी पड़ेगी. सीबीआई के 55वें गवाह रांची स्थित पशुपालन विभाग के तत्कालीन परियोजना पदाधिकारी डॉ. शशि कुमार सिंह ने अपनी गवाही में दावा किया है कि चारा घोटाले में लालू प्रसाद को किस्तों में पैसे दिए गए थे। 

उन्होंने कोर्ट को बताया कि घोटाले में पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद सहित अन्य लोग लिप्त थे। रांची में स्थित पशुपालन विभाग में तृतीय व चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों की बहाली भी लालू के इशारे पर की गई थी। डॉ. श्याम बिहारी सिन्हा रांची से पटना आये थे और लालू प्रसाद के यहां जाकर उसके सामने ही घोटाला के 20 हज़ार रूपये दिए थे। इसके बाद 50 हज़ार रूपये दिए गए। फिर बड़ी राशि दी जाने लगी। लालू को दिल्ली स्थित बिहार भवन में भी 10 लाख रूपये दिए गए।

दूसरी ओर राबड़ी व तेजस्वी को प्रवर्तन निदेशालय ने रेलवे के होटल आवंटन में कथित भ्रष्टाचार मामले की अपनी मनी लॉन्डरिंग जांच के सिलसिले में फिर समन जारी किया है। जिसमें तेजस्वी को 20 नवंबर और राबड़ी देवी को 24 नवंबर को बुलाया गया है। इससे पहले तेजस्वी से 13 नवंबर को दूसरी बार पूछताछ की गयी थी, जबकि राबड़ी देवी छह समन के बाद भी ईडी के सामने पेश नहीं हुईं। 

इधर, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को जवाब देने को कहा है. आरोपितों के साथ तेज प्रताप की तस्वीरों पर भी रिपोर्ट मांगी गई है। बिहार के पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव की समाचार पत्रों में प्रकाशित तस्वीरें और वीडियो से सम्बंधित मामले की जांच के सम्बन्ध में सीबीआई से जवाब माँगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *