बेटे जयंत सिन्हा ने ये कैसा जवाब दिया !

दवाब पड़ा तो पिता को जवाब देने के लिए जयंत सिन्हा ने लिखा नया लेख

क्या एक अर्थशास्त्री बेटे ने अपने अर्थशास्त्री पिता को उसी की शैली में जवाब दिया है या यह आर्टिकल पॉलिटिक्स है, जो भाजपा खेल रही है. एक दिन पहले यशवंत सिन्हा मोदी सरकार की आर्थिक नाकामियों का भांडा इंडियन एक्सप्रेस में लेख लिखकर देश के सामने फोड़ते हैं और दूसरे ही दिन जयंत सिन्हा इस लेख को गलत बताते हुए एक दूसरा लेख टाइम्स ऑफ़ इंडिया में लिखते हैं, जिसमें वो बताते हैं कि अभी जो आर्थिक स्थिति दिख रही है, वो अस्थायी है.कहा जा रहा है कि भाजपा नेतृत्व ने जयंत सिन्हा को जवाब देने का निर्देश दिया.

देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति पर वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा के लेख से भाजपा में कई लोग तिलमिला उठे हैं। सरकार ने जहां उनकी आलोचना को खारिज कर दिया, वहीं कांग्रेस ने इसे सही बताया है। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने वित्तमंत्री अरुण जेटली पर भारतीय अर्थव्यवस्था की सेहत बिगाड़ने और इसके बाद उत्पन्न ‘आर्थिक सुस्ती’ से कई सेक्टरों की हालत खस्ता होने के लिए निशाना साधा है।

तो वही नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने गुरुवार (28 सितंबर) को एक अंग्रेजी अखबार में लेख लिखा जिसमें वर्तमान अर्थव्यवस्था की आलोचना करने वालों को गलत बताया गया है। जयंत के लेख में मोदी सरकार की नीतियों और देश के आर्थिक हालात की आलोचना करने वालों को गलत बताया गया।

जयंत सिन्हा ने अपने जवाबी आलेख में लिखा, “भारतीय अर्थव्यस्था के बदलते चेहरे पर हाल में कई लेख प्रकाशित हुए हैं। दुर्भाग्यवश, ये लेख सीमित तथ्यों के आलोक में अतिसरलीकरण करते हैं और भारतीय अर्थव्यवस्था में मूलभूत बदलावों पर इनकी नजर नहीं जाती है। इतना ही नहीं एक या दो तिमाही के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर और दूसरे आंकड़े भारतीय अर्थव्यवस्था के मूल्याकंन के लिए काफी नहीं हैं। इनसे ढांचागत बदलावों के दीर्घकालीन प्रभावों का पता नहीं चलता।”

इस आर्टिकल पॉलिटिक्स पर कांग्रेस ने खूब चुटकी ली. इसके नेशनल हेरल्ड अखबार ने लिखा है कि जयंत को उनके पिता के लेख का जवाब देने के लिए बीजेपी और मोदी सरकार के शीर्ष लोगों ने कहा। जयंत का लेख छपने से पहले ही नेशनल हेरल्ड में बुधवार रात छपे एक लेख में दावा किया गया कि जयंत सिन्हा से अपने पिता यशवंत सिन्हा के मोदी सरकार की नीतियों, वित्त मंत्री अरुण जेटली और भारतीय अर्थव्यवस्था की आलोचना करने वाले लेख का जवाब लिखने के लिए कहा गया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *