सोनिया के साथ सूबे की सियासी गणित सेट करेंगे हेमंत !

नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज दिल्ली गए हैं, वे यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई बैठक में शरीक होंगे। लाजिमी है कि राज्य के वर्तमान हालात पर उनसे विमर्श करेंगे। राज्यसभा, लोकसभा और विधानसभा चुनावों को लेकर साझा विपक्ष की स्ट्रैटजी पर विस्तार से बातचीत करेंगे। वैसे कुछ दिनों पूर्व ही हेमंत सोरेन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी गठबंधन को लेकर लंबी बातचीत की है। इसके बाद राज्यसभा में कांग्रेस के प्रत्याशी को समर्थन देने के साथ ही लोकसभा और विधानसभा चुनावों को लेकर विशेष रणनीति की नींव रखी गई। हालांकि इसका कांग्रेस के ही कुछ बड़े नेताओं ने खुलकर विरोध किया उन्होंने तो यहां तक कहा कि कांग्रेस को झामुमो के कदमों में गिरवी रख दिया गया है। बहरहाल, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार और कांग्रेस के राज्य प्रभारी आरपीएन सिंह ने सबों की बातों को एक तरह से अनसुना कर दिया है।

जानकारों की मानें तो कांग्रेस के कुछ नेता भले ही अभी भी इस गुमान में रहें कि बीजेपी के बाद कांग्रेस ही एकमात्र देश की राष्ट्रीय पार्टी है लेकिन कांग्रेस हाईकमान को अब ये एहसास हो चला है कि पार्टी को नए सिरे से खड़ा करने की जरुरत है और इस प्रक्रिया में लंबा वक्त लग सकता है इसलिए फिलहाल समान विचारों वाली रिजनल पार्टियों के साथ समझौता करने में कोई नुकसान नहीं है, क्योंकि बीजेपी भी कभी इन्हीं क्षेत्रीय क्षत्रपों से समझौता करती रही है। और आज वह पूरे देश में पैर पसार चुकी है।

वहीं दूसरी ओर मिशन 2019 को लेकर कांग्रेस विपक्ष को लामबंद करने में जुटी है ताकि मजबूत विपक्ष एनडीए को पटकनी दे सके। गौरतलब है कि इसी सिलसिले में सोनिया गांधी ने आज डिनर पर पूरे विपक्ष को आमंत्रित किया है। इसमें तृणमूल कांग्रेस की तरफ से डेरेक ओ ब्रायन और सुदीप बनर्जी शामिल होंगे। राजद नेता तेजस्वी यादव, हम के अध्यक्ष जीतन राम मांझी सहित कई दलों के नेता शामिल होंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *