विकास यात्रा की शुरुआत पूर्वी चंपारण से करेंगे मुख्यमंत्री

7 दिसंबर को पूर्वी चंपारण से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विकास यात्रा की शुरुआत करेंगे। विकास यात्रा को 7 चरण में पूरा किया जाएगा, जिसमे 37 जिलों में योजनाओं की समीक्षा होगी। चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में इस यात्रा का मकसद जिलों में विकास योजनाओं की समीक्षा करने के साथ सामाजिक मुद्दों पर जागरूकता लाना है। इस यात्रा में मुख्यमंत्री लोगों से 21 जनवरी को दहेज़ प्रथा और बाल विवाह विरोधी अभियान में शामिल होने को कहेंगे। यात्रा के दौरान हर जिलों में शराबबंदी और नशामुक्ति अभियान पर बात होगी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी यात्रा के दौरान लोगों को सरकारी योजनाओं से मिल रहे लाभ का जायज लेंगे। साथ में हर जिले में अधिकारियों के साथ बैठक होगी, जिसमे प्रभारी मंत्री, प्रभारी सचिव, मुख्या सचिव, डीजीपी, आयुक्त, डीआईजी, डीएम और एसपी भी शामिल होंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विकास यात्रा 7 दिसंबर से 18 जनवरी तक चलेगी जिसमे वे 37 जिलों में जाएंगे, जिसकी सूचि इस प्रकार है -

*7 से 8 दिसंबर - पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण

*13 से 16 दिसंबर - सीतामढ़ी, शिवहर, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, दरभंगा, समस्तीपुर और वैशाली

*20 से 22 दिसंबर - बांका, भागलपुर, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज, कटिहार

*27 से 29 दिसंबर - जमुई, शेखपुरा, मुंगेर, लखीसराय, और नालंदा

*4 से 6 जनवरी - मधेपुरा, सहरसा, सुपौल, खगडिया और बेगुसराय

*10 से 13 जनवरी - गोपालगंज, सीवान, छपरा, आरा, बक्सर, कैमूर व रोहतास

*16 से 18 जनवरी - नवादा, गया, औरंगाबाद, अरवल और जहानाबाद

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बिहार की सत्ता संभालने के बाद यह उनकी 10वीं यात्रा है। 9 जनवरी, 2009 को पहली बार विकास यात्रा की थी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *