राहुल की अमेठी सीट है भाजपा का अगला निशाना

भाजपा अब पूरी तरह से मिशन 2019 पर लग चुकी है. पार्टी ने विपक्ष के नेताओं की सीट पर काम करना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में राहुल गाँधी की अमेठी सीट और सोनिया गाँधी की रायबरेली सीट पर भाजपा संगठन के रणनीतिकारों को झोंक रही है ताकि कांग्रेस अध्यक्ष को उन्हीं के गढ़ में पटकनी दी जाये देश के सबसे बड़े राज्य उत्तरप्रदेश में बदले सियासी समीकण के बीच 1 सीट अधिक बढने की उम्मीद भाजपा को है.

भाजपा ने पश्चिम बंगाल में 22 और उड़ीसा में 21 सीट जीतने की योजना का काम शुरू कर दिया है. इसी तरह दक्षिण भारत और पूर्वोत्तर के राज्यों में नई सीट मिलने की संभावना जताई जा रही है. इस सफलता को हासिल करने के लिए भाजपा 22 करोड़ परिवारों को उनके घर-घर जाकर मिलेगी. साथ ही उनसे अपील करेगी कि वह भ्रष्टाचार मुक्त शासन एवं तेज विकास के आधार पर अगली बार मोदी सरकार को फिर वोट दें.

लोकसभा चुनाव में एनडीए के घटक दलों को इस बार भाजपा नाराज करने के मूड में नहीं है. भाजपा सभी दलों को उनके हिसाब से जीतने वाली सीटें दे सकती है. जरूरत पड़ी तो वह कुछ सीटों पर कुर्बानी भी दे सकती है. भाजपा महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेगी, इस पर बात हो रही है. इसी तरह बिहार में रामविलास पासवान और कुशवाहा को उनकी जीतने वाली सीटें मिल सकती हैं. अब नीतीश कुमार की जेडीयू भी गठबंधन का हिस्सा है, लिहाजा, भाजपा बिहार में कुछ सीटें छोड़ सकती है.

पार्टी ने मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के मौके पर 27 मई से 11 जून तक विशेष संपर्क अभियान चलाने का ऐलान किया है, जिसके तहत भाजपा के चार हजार वरिष्ठ नेता देश के एक लाख प्रबुद्ध लोगों से संपर्क करेंगे. इसके अलावा पार्टी 26 मई से 11 जूतक तक देश भर में जनसंपर्क का नौ सूत्रीय अभियान भी चलाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशभर की 15 केंद्रीय योजनाओं के लाभार्थियों से ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात करेंगे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *