प्रत्याशियों को मिले प्रशासन का सहयोगः BJP

लोकतंत्र में चुनाव के निर्देश व आचार संहिता सिर्फ प्रत्याशियों के लिए ही नहीं, निर्वाचन प्रक्रिया में लगे अधिकारियों व सरकारी विभागों के लिए भी है। निश्चित अवधि में प्रचार और सम्पर्क हेतु प्रत्याशियों को प्रशासन का सहयोग भी आवश्यक है। उपरोक्त बातें बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन के माध्यम से राज्य चुनाव आयोग को सौंपते हुई कही। कहा है कि निर्वाची पदाधिकारी कार्यालय प्रचार गाड़ी, पदयात्रा, सभा, कार्यालय खोलने आदि में प्रक्रियागत कारणों से अनावश्यक विलम्ब हो रहा है। इससे प्रत्याशियों का चुनाव प्रचार अभियान प्रभावित हो रहा है। इसे नियमित किया जाए। पदयात्रा/सभा/जुलूस के लिए सदर अनुमण्डल पदाधिकारी के चुनाव कोषांग द्वारा कहा जा रहा है कि स्थानीय थाना को सूचित करने की प्राप्ति प्रति के साथ आवेदन देना है। थाना प्रभारियों द्वारा किसी भी प्रकार का आवेदन लेने से इंकार किया जाता है। इससे प्रक्रियागत संशय उत्पन्न हो रहा है। इसे स्पष्ट किए जाने की आवश्यकता है। प्रचार वाहन के अनुमति में देरी के संदर्भ में हमारे रांची नगर निगम के महापौर प्रत्याशी के चुनाव अभिकर्ता व निर्वाची पदाधिकारी सह सदर अनुमण्डल अधिकारी के बीच हुई टेक्स्ट मेसेज के माध्यम से हुई वार्ता की प्रति संलग्न है। इसमें हमारे चुनाव अभिकर्ता पर कार्रवाई करने की धमकी भी दी गयी। इस तरह के व्यवहार को रोका जाए।

बीजेपी के रांची नगर निगम के महापौर और उपमहापौर के प्रत्याशी का चुनाव कार्यालय संयुक्त रूप से चल रहा है तथा प्रचार वाहन भी संयुक्त रूप से चलाया जा रहा है। इस संदर्भ में खर्च को दोनों प्रत्याशी के बीच बराबर बांटने के लिए स्पष्ट निर्देश दिए जाएं।

प्रतिनिधि मंडल में मनोज कुमार सिंह, शिवकुमार शर्मा, दीनदयाल वर्णवाल, प्रेम मित्तल, संजय कुमार जयसवाल, प्रदीप सिन्हा, बी.के. विजय, सौरभ श्रीवास्तव, गौरव पाठक, शामिल थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *