दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में 37 दोषी, 5 बरी

चारा घोटाला के दुमका कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित मामले में सोमवार को फैसला आया। दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में कांड संख्या आरसी 45 ए/96 में सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने फैसला सुनाया। चार घोटाला मामले में 42 अभियुक्त ट्रायल फेस कर रहे थे, जिसमें से अदालत ने 37 अभियुक्तों को दोषी करार दिया है। मामले में पांच अभियुक्तों को बरी कर दिया गया। बरी किये गये अभियुक्तों में बेनु झा, मधु मेहता, सरस्वती चंद्र, हरीश खन्ना और लालमोहन प्रसाद का नाम शामिल हैं।

अदालत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से फैसला सुनाया। चारा घोटाला का यह 51 वां मामला है, जिसमें फैसला सुनाया गया। वहीं, दुमका कोषागार का यह दूसरा मामला है। इस मामले में कोई राजनीतिक लोग शामिल नहीं हैं। इस मामले में केवल डॉक्टर, अधिकारी व आपूर्तिकर्ता शामिल हैं। मंगलवार से दोषी अभियुक्तों के खिलाफ सजा को लेकर सुनवाई होगी। सुनवाई अभियुक्तों के नाम के अल्फाबेटिकल होगी। प्रत्येक दिन सात अभियुक्तों के खिलाफ सजा के बिंदु पर सुनवाई होगी। जिसके बाद अभियुक्तों को सजा सुनाई जायेगी।

दोषियों में विमल कांत दास, फ्रेडी केरकेट्टा, दिनेश्वर प्रसाद शर्मा, हरेंद्र नाथ वर्मा, कृष्ण कुमार प्रसाद, कृष्ण मुरारी साह, मनोरंजन प्रसाद, मनोज कुमार श्रीवास्तव, नंद किशोर प्रसाद, ओम प्रकाश दिवाकर, पंकज मोहन भूई, पितांबर झा, रघुनंदन प्रसाद, राधा मोहन मंडल, शशि कुमार सिन्हा, सर्वेन्दु कुमार दास शामिल हैं।

दोषी आपूर्तिकर्ता में अजीत कुमार सिन्हा, अनिल कुमार सिन्हा, अरुण कुमार, अजीत कुमार वर्मा, विनोद कुमार झा, दयानंद कश्यप, दिनेश कुमार सिन्हा, गोपीनाथ दास, हरीश चंद्र अग्रवाल, एमएस बेदी, राकेश कुमार अग्रवाल, राम अवतार शर्मा, रवि कुमार सिन्हा, राकेश गांधी, उर्फ सुनील गांधी, राजन मेहता, संजय शंकर, संजय अग्रवाल, सुनील कुमार सिन्हा, सुशील कुमार सिन्हा और त्रिपुरारी मोहन प्रसाद शामिल हैं।

ट्रायल के दौरान डॉ. शेषमुनी राम, डॉ. बजरंग देव नारायण सिन्हा, डॉ. सत्यनारायण सिंह, डॉ. इंद्राशन सिंह, डॉ. मोहम्मद वसीमुद्दीन, डॉ. विनय कुमार, बालमुकुंद झा, कालिका प्रसाद सिन्हा, ओम प्रकाश शर्मा, चंद्रशेखर दुबे, ओम प्रकाश गुप्ता, महेंद्र प्रसाद, अजय कुमार सिन्हा और डॉ. अजीत कुमार सिन्हा का निधन हो चुका है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *