लॉकडाउन के कारण 12 करोड़ लोग पूरी तरह से हो गए हैं बेरोजगार : पप्पू यादव

सूबे में जन अधिकार को दबाने का जो कुचक्र चल रहा है उसे किसी भी कीमत पर जन अधिकार पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। सूबे के सीएम व मंत्री से यही सवाल है कि वो बताएं केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ में से मिली 65 हजार करोड़ राशि का सदुपयोग कहां कहां होगा। किसान व मजदूरों की स्थिति दिनोंदिन बदतर हो रही है लेकिन सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। सिर्फ हवा हवाई घोषणा के दम पर ही काम निकालने का प्रयास किया जा रहा है। उक्त बातें एक प्रेसवार्ता के दौरान पूर्व सांसद सह जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव ने कही। उन्होंने सूबाई सरकार से जितने भी बीपीएल व मध्यम वर्गीय परिवार हैं उनके खाते में 7000 रूपए व तीन माह का राशन देने की मांग की है। लॉकडाउन के कारण 12 करोड़ लोग पूरी तरह से बेरोजगार हो गए हैं लेकिन अभी भी सरकार आम जनमानस को दिग्भ्रमित करने का काम कर रही है।

…लॉकडाउन में बढ़ गया हत्या का दौर :
पूर्व सांसद ने सूबाई सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि लॉकडाउन होने के बाद भी सूबे में हत्याओं का दौर लगातार जारी है। सरकार आपराधिक छवि के लोगों को बचाने का प्रयास कर रही है। खगड़िया, बेगूसराय, नौबतपुर, गोपालगंज समेत कई अन्य जगहों पर हत्याएं हुईं लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ भी नहीं हो रहा है। कोराेना महामारी और लॉकडाउन का बहाना बनाकर सरकार इन घटनाओं से उबरना चाहती है। सूबे में लघु व कुटीर उद्योग के नाम पर कुछ नहीं बचा है।

…जुलाई से शुरू होगा हर घर राशन अभियान :
पूर्व सांसद ने कहा कि जुलाई माह से हमारे कार्यकर्ता हर घर राशन पहुंचाएंगे। इसके लिए कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। उन्होंने बताया कि अब तक उनके द्वारा 22 हजार लोगों के अकाउंट में राशि भेजी गई है। जबकि 30 हजार लोगों को हाथोंहाथ आर्थिक मदद की गई है। 7 लाख लोगों को भोजन कराया गया और 362 बसों को दिल्ली से बिहार के लिए रवाना किया गया। उन्होंने कहा कि हम जो कहते हैं वो कर दिखाते हैं। सत्ता और विपक्ष के लोग सिर्फ 2000 बस व ट्रेन देने की बात तो करते हैं लेकिन धरातल पर कुछ भी नहीं दिखता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *