शहीदों के अरमानों का झारखंड बनाने का सफर अभी अधूरा : सुदेश

आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि शहीदों के अरमानों का झारखंड बनाने का सपर अभी अधूरा है। पर शहीदों की वीर गाथा और कुर्बानियां हमारे सामने युगों तक जिंदा रहेंगे। अलग-अलग संघर्ष और सीधी लड़ाईयों में शहीदों ने जो गोलियां सीने में खाई है उसका लौ हर झारखंडियों के सीने में जलता रहे, इसकी कोशिश जरूर होनी चाहिए. यह लड़ाई बड़ी लम्बी है। झारखंडी विचारधारा को झारखण्ड में स्थापित करने का बीड़ा हमें लेना होगा। हमारी परंपराओं को कोई और स्थापित नहीं कर सकता है। हम झारखंडियों को अपनी परंपराओं को स्थापित करना होगा। 
चाईबासा में मनोहरपुर विधानसभा क्षेत्र के सलाई जंगल में शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने ये बातें कही। इस मौके पर उन्होंने गुव गोलीकांड के शहीद सुला पूर्ति की धर्मपत्नी रतनी पूर्ति को सम्मानित किया। 
इससे पहले सभा स्थल पर लोकनृत्य और नारों के साथ शोभायात्रा निकाली गई। आजसू अध्यक्ष ने विधिवत और पारंपरिक अनुष्ठान के कर शहीदों को श्रद्धांजिल दी। इस अवसर पर केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि कोल्हान वीरों की धरती रही है। इस धरती के वीर शहीदों ने जुल्म, शोषण के खिलाफ, जल, जंगल, जमीन की सुरक्षा और अपना देश अपना राज के लिए तीखा संघर्ष किया। सामंती, जमींदारों और अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाईयों की मुनादी की। इनमें गुवा गोलीकांड तो आजाद हिन्दुस्तान और झारखंड अलग राज्य आंदोलन के दौरान हुआ। पुलिस गोलियां चला रही थी। और हमारे वीर तीर-धुनष से सामना कर रहे थे। इसलिए यह हर झारखंडी का कर्तव्य बनता है कि शहीदों के परिवार वालों को गुमनामी से बाहर निकालें। और उन्हें सम्मान दें। यही मौका है जब हम शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों को एकता के सूत्र में सामाजिक व सांस्कृतिक रूप से एक विचारधारा में बांध सकें।
उन्होंने कहा कि विकास होना चाहिए लेकिन विकास की शर्त ग्राम सभा तय करेगा। ग्राम सभा और पंचायत को कमजोर कर झारखण्ड के विकास का परिकल्पना नहीं की जा सकती है। महात्मा गांधी जी के सपने को पूरे देश और प्रदेश में स्थापित करने की हमारी तैयारी है। इसी विचारधारा के आस-पास आजसू पार्टी राजनीति करती है। 
सभा में पार्टी के मुख्य प्रवक्ता डॉ देवशरण भगत, राजू शांडिल, चक्रधरपुर विधानसभा प्रभारी रामलाल मुंडा, जिला अध्यक्ष सिद्धार्थ महतो, मंझगांव विधानसभा प्रभारी नंदलाल बिरूआ, विधानसभा प्रभारी बिरसा मुंडा, केंद्रीय सचिव संतोष महतो, शिव प्रताप सिंह देव इत्यादि मुख्य रूप से उपस्थित थे। 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *