बिहार : शीतकालीन सत्र में बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्ष सरकार को घेरने को तैयार

सोमवार से विधानमंडल का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है. सत्र काफी छोटा है इसलिए हंगामें की गुंजाइश काफी कम है, लेकिन विपक्ष ने इस छोटे सत्र में भी एनडीए की सरकार को रोजगार और भ्रष्टाचार के मसले पर घेरने की पूरी रणनीति तैयार कर ली है. वहीं बीजेपी जेडीयू ने भी तेजस्वी को उन्हीं के मुद्दों पर जवाब देने का मन बना लिया है.

सोमवार से विधानमंडल का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है. 27 तारीख तक चलने वाला सत्र काफी छोटा है, लेकिन सत्र के हंगामेदार होने के पूरे आसार हैं. शुरुआत के दो दिनों तक सदन में नये विधायकों का शपथ ग्रहण होगा.

25 तारीख को विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होना है, लेकिन इसबार विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव भी एनडीए के लिए आसान नहीं रहनेवाला है. क्योंकि महागठबंधन इसबार मजबूत विपक्ष के तौर पर सदन में होगा. चर्चा है कि महागठबंधन की तरफ से किसी उम्मीदवार को विधानसभा अध्यक्ष चुनाव के लिए उम्मीदवार के रुप में उतार दिया जाए. अगर ऐसा होता है तो एनडीए के लिए अध्यक्ष पद की कुर्सी हासिल करनी आसान नहीं रह जाएगी.

अध्यक्ष पद के चुनाव के बाद के दो दिनों में राज्यपाल के अभिभाषण पर सदन में चर्चा होगी. इस चर्चा के दौरान ही विपक्ष सरकार पर हावी होने की कोशिश करेगा. आरजेडी नेता शक्ति यादव कहते हैं कि सदन में सरकार को जवाब देना होगा. 19 लाख नौकरी भ्रष्टाचार किसानों से जुड़े मुद्दे पर विपक्ष के सवालों का जवाब तो देना ही पड़ेगा.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *