बाहर से आए किसी भी व्यक्ति को अब बिहार में नहीं मिलेगी इंट्री, राज्य सरकार ने लिए फैसला

अप्रवासी बिहारियों के लिए अब बिहार में इंट्री पर रोक लगाने के फैसला बिहार सरकार ने किया है. कोरोना क्राइसिस मैनेजमेंट की हुई उच्चस्तरीय बैठक में बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि किसी भी हाल में बाहर से आया कोई भी व्यक्ति बिहार में प्रवेश नहीं कर सकता है। उसे अब हर हाल में सीमाक्षेत्र में बने आपदा राहत केंद्र में ही रहना होगा। उन्होंने कहा कि हर हाल में लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो अब ड्रोन से निगरानी की जाएगी।

बीते 21 दिन में करीब सवा लाख से अधिक लोग देश और विदेश के विभिन्न हिस्सों से बिहार पहुंचे हैं। अब आपदा प्रबंधन विभाग ने उनकी ट्रैकिंग शुरू कर दी है और साथ ही अब बिहार में लॉकडाउन को पूरी तरह से प्रभावी बनाने के लिए पुलिस मुख्यालय ने अब कमान कस ली है। आज से राज्य की अंतरराज्यीय और अंतरराष्ट्रीय सीमा को पूरी तरह से सील करने का आदेश जारी कर दिया गया है।बता दें कि नेपाल, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड को जोड़ने वाले सभी रास्तों को आज से पूरी तरह से सील कर दिया गया है और अब इनसे किसी का भी प्रवेश बिहार में नहीं हो सकेगा। इन सीमाओं से लगी सड़कों से पुलिस अब किसी कोआने-जाने नहीं देगी। वहीं,आपातकालीन सेवाओं, राशन, किराना, फल, सब्जी और दवाओं को लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है।

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वरपांडेय ने बताया कि रविवार और सोमवार की शाम तक बिहार के बार्डर पर बहुत सारे लोग आ गए थे और बार्डर पर रुकने को तैयार नहीं थे इसलिए सरकार के आदेश के बाद उन्हें उनके गांव में बने क्वारेंटाइन सेंटर तक पहुंचा दिया गया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का पूरी तरह पालन किया जाएगा। पुलिस की अब पैनी नजर रहेगी।बता दें कि दिल्ली से लोगों का बिहार आना लगातार जारी है। लोगों को आने की जो भी सुविधा मिल रही उससे लोग बिहार आ रहे हैं। इन सभी लोगों को जांच के बाद ही अबतक एंट्री दी गई है लेकिन अब सीमाएं सील होने के बाद उन्हें एंट्री मिलेगी या नहीं ये तो पुलिस के जिम्मे ही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *