बाढ़ की तैयारी सिर्फ कागजों पर : गिरिराज सिंह

बिहार में बाढ़  से हालात खराब हो गए हैं. राजधानी पटना की सड़कों पर जलभराव हो गया है. पानी की वजह से हजारों लोग कई दिनों से अपने घरों में कैद हैं. नेताओं के साथ-साथ आम लोगों को भी रेस्क्यू किया गया है. इस बीच केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता गिरिराज सिंह ने बिहार सरकार और जिला प्रशासन पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर तंज कसते हुए कहा है कि प्रशासन के लिए बाढ़ उत्सव के समान है. सिर्फ कागजों पर बाढ़ की तैयारी की गई है. जमीन पर इसका असर नहीं दिख रहा है.

केंद्रीय मंत्री ने जिला अधिकारी की राहत रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दिया है. उनका कहना है कि ये रिपोर्ट झूठ का पुलिंदा है. दरअसल, गिरिराज सिंह ने मंगलवार को बेगूसराय सर्किट हाउस में जिलाधिकारी और एसपी के साथ बाढ़ एवं इससे उत्पन्न अव्यवस्थाओं को लेकर मीटिंग की थी. तब उन्होंने अधिकारियों को बाढ़ से उत्पन्न अव्यवस्थाओं को दुरुस्त करने, पीने योग्य पानी मुहैया कराने, जानवरों को एक साथ 4 दिनों का चारा देने और टेंट की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया था. साथ ही उन्होंने कहा था कि बिना भेदभाव बाढ़ रहात सामग्री वितरित की जाए.

बता दें कि बिहार में बाढ़ से हालात बहुत ही खराब हो गए हैं. इससे पूरी व्यवस्था चरमरा गई है. वहीं, मंगलवार को लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने बिहार में आई बाढ़ को लेकर उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर तंज कसा था. उन्होंने सुशील मोदी की रेस्क्यू वाली तस्वीर पर ट्वीट करते हुए कहा था कि बारिश से पूरे पटना में अघोषित इमरजेंसी जैसे हालात हो गए हैं. लोग भूखे-प्यासे अपने-अपने घरों में कैद हैं. कई लोगों का घर भी पूरी तरह से जलमग्न हो चुका है. हालात ये हैं कि पटना को पेरिस बनाने का दावा करने वाले उपमुख्यमंत्री (सुशील कुमार मोदी) भी झोला-बैग लेकर सपरिवार सड़क पर आ गए हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *