मार्च 3, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

Rajneeti Guru: सिजोफ्रेनिया के लक्षण: मरीज अकेले रहना पसंद करता है, जानें लक्षण और इलाज

Rajneeti Guru: सिजोफ्रेनिया के लक्षण: मरीज अकेले रहना पसंद करता है, जानें लक्षण और इलाज

सिज़ोफ्रेनिया: बीमारी जो चिंताओं का कारण बन सकती है

ऐसी गंभीर बीमारी है जो कई तरह की चिंता का कारण बन सकती है। इसे सिज़ोफ्रेनिया कहा जाता है और यह एक मानसिक समस्या है, जिसमें मरीज अकेले रहना पसंद करता है और मन में भ्रम की स्थिति बनी रहती है। इस बीमारी का ज्यादातर प्रभाव मरीज के विचारों, भाषण और व्यवहार पर पड़ता है।

सिजोफ्रेनिया के कारण अब तक पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हैं, लेकिन इसके न्यूरोलॉजिकल कारण जेनेटिक और घर और बाहर के माहौल मना जाता है। यह बीमारी घरेलू वातावरण, समाजिक तनाव, मनोवैज्ञानिक संकट आदि के कारण भी पैदा हो सकती है।

मरीजों के लिए सिज़ोफ्रेनिया के इलाज के लिए टाइम पर दवाइयां लेनी चाहिए और डॉक्टर से नियमित रूप से मिलना चाहिए। इसके इलाज में विटामिन बी की चीजें और साइकोलॉजिकल उपचार भी मददगार हो सकते हैं। विटामिन बी की चीजें जैसे मिल्क, दूध, अखरोट आदि मस्तिष्क को मजबूत बनाने में मदद करती हैं। साथ ही, साइकोलॉजिकल उपचार में मरीज को अच्छे संगीत, योग, ध्यान आदि की सलाह दी जाती है।

सिज़ोफ्रेनिया एक बीमारी है जिससे पीड़ित व्यक्ति की सोच और व्यवहार में अस्थिरता होने लगती है। इसे जल्द से जल्द पहचानना और इलाज करना बेहद जरूरी है। सिज़ोफ्रेनिया भारत में एक मामूली बीमारी मानी जाती है, जो खतरनाक हो सकती है। इसलिए, अपने स्वास्थ्य की देखभाल को मुख्यतः चिंताओं का हिस्सा मानें और इसे जल्द से जल्द निबटाने के लिए मेडिकल सलाह लें।

READ  उत्तर प्रदेश में डेंगू का प्रसारण: एक दिन में 37 मामले दर्ज, कुल मामलों की गिनती 1700 के पार | Rajneeti Guru