अप्रैल 17, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

Mलेरिया की जोखिम: हर साल 5-6 लाख लोगों की मौत, क्या इसके लिए है कोई वैक्सीन?

Mलेरिया की जोखिम: हर साल 5-6 लाख लोगों की मौत, क्या इसके लिए है कोई वैक्सीन?

मलेरिया दिवस 2024 के मौके पर विश्व के इस गंभीर बीमारी के बारे में हुए जागरूक

विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर आज विश्व भर में मलेरिया की गंभीरता को लेकर जागरूकता फैलाई जा रही है। हर साल लाखों लोगों की मौत का कारण बनने वाली मलेरिया की विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार रिपोर्ट में हुई कमी के बावजूद, इस बीमारी का खतरा अब भी बना रहता है।

भारत में भी मलेरिया के मामले बार बार रिपोर्ट किए जा रहे हैं। साल 2022 में 6.08 लाख लोगों की मौत हो गई, जो पिछले साल 6.10 लाख मौतों से थोड़ी कम थी।

इस साल का थीम है- हेल्थ इक्वालिटी, जेंडर एंड ह्यूमन राइट्स। इस मौके पर मलेरिया के टीके के उपलब्ध होने से मौत के खतरे को कम किया जा सकता है।

मलेरिया की बीमारी मच्छरों के काटने से होती है, इसलिए मच्छरों से सावधानी बरतना जरूरी है। मलेरिया के संकेत और लक्षण फ्लू के लक्षणों के समान होते हैं।

स्वच्छता और संरक्षण में ध्यान रखकर हम मलेरिया से बचने में सक्षम हो सकते हैं। इस विश्व मलेरिया दिवस के माध्यम से लोगों में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

READ  राजनीति गुरु: खुलकर हंसना, बीमारियों से दूर रखें, जवां बनाएं, दिल की सेहत सही रखें, बाल मजबूत ...