मई 24, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

ICC के रास्ते के विश्व कप पर श्रीलंका पर लगे बैन के प्रभाव क्या होंगे? अब २०२४ टी20 विश्व कप में – राजनीति गुरु

ICC के रास्ते के विश्व कप पर श्रीलंका पर लगे बैन के प्रभाव क्या होंगे? अब २०२४ टी20 विश्व कप में – राजनीति गुरु

श्रीलंका क्रिकेट टीम ने इस वर्ल्ड कप में अपना खराब प्रदर्शन जारी रखा है। टीम ने लीग स्टेज के 9 मैचों में सिर्फ 2 मैचों में ही जीत हासिल कर पाई है, जबकि 7 मैचों में हार का सामना करना पड़ गया है। इसके चलते श्रीलंका क्रिकेट टीम की सदस्यता बैन के कारण समाप्त कर दी गई है। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने श्रीलंका सरकार द्वारा कोचिंग में दखल देने के कारण सदस्यता को निलंबित कर दिया है।

इस बैन की वजह से श्रीलंका के इस वर्ल्ड कप पर काफी असर पड़ेगा। यदि आईसीसी ने सदस्यता को फिर से बहाल नहीं किया, तो श्रीलंका टीम टी20 वर्ल्ड कप में नहीं खेल पायेगी। टीम की सदस्यता बाधित होने के चलते उन्हें 2024 में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के लिए कोई भी खेलने का मौका नहीं मिलेगा।

श्रीलंका के क्रिकेट टीम की हालांकि पहले काफी शानदार योगदान हुआ है। टीम ने 1996 के वनडे वर्ल्ड कप को जीता था और उसके बाद वर्ल्ड कप 2007 और 2011 में फाइनल तक पहुंची थी। इसके अलावा, श्रीलंका ने टी20 वर्ल्ड कप 2014 भी जीता था। इस बात की चिंता की जा रही है कि अगले वर्ल्ड कप में श्रीलंका टीम का हिस्सा नहीं हो पाएगा।

इस वर्ल्ड कप में श्रीलंका के संघर्ष और नये खिलाड़ियों की कमजोर तैयारी की वजह से टीम को कई मौकों पर हार की सामना करनी पड़ी। पिछले कई वर्षों में टीम की स्थिति में सुधार नहीं हुआ है और अब इस बैन की सदस्यता को लेकर और भी मुश्किलें आएंगी। क्रिकेट प्रेमियों और अनुयायियों को यह सब खबरें काफी ही निराशा देंगी।

READ  अंतर्राष्ट्रीय शतरंज दिवस 2023 - याददाश्त ही नहीं आत्मविश्वास भी बढ़ाता है, राजनीति गुरु

श्रीलंका के खिलाड़ियों और उनके प्रशंसकों के लिए अब से बड़ी मुसीबत आने वाली है। आईसीसी के द्वारा बैन होने के चलते टीम को वर्ल्ड कप में नहीं खेलना पड़ेगा और इससे विश्वास करने वाले लोगों के लिए यह काफी बड़ा झटका होगा। टीम के प्रशंसक अब आशा कर सकते हैं कि आईसीसी इस मामले पर विचार करने के बाद टीम की सदस्यता फिर से बहाल कर देंगे और वर्ल्ड कप में खेलने का मौका टीम को मिल जाएगा। तब श्रीलंका के खिलाड़ियों को दूसरा मौका मिलेगा अपनी कमजोरियों को दूर करने का।