फ़रवरी 25, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

सुशांत बहुत अच्छा था, उसके परिवार से आज भी है रिश्ता, अंकिता की मां का खुलासा – राजनीति गुरु

सुशांत बहुत अच्छा था, उसके परिवार से आज भी है रिश्ता, अंकिता की मां का खुलासा – राजनीति गुरु

वंदना, सुशांत सिंह राजपूत के परिवार सदस्यों के प्रियजनों में से एक हैं, ने एक इंटरव्यू में दामाद, विक्की जैन, के बारे में बात करते हुए कहा है कि सुशांत की मौत के समय विक्की ने उनकी सहसंवादी, अभिनेत्री अंकिता लोखंडे का बहुत ही समर्थन किया था। इसे लेकर वंदना ने कहा कि जब अंकिता लोखंडे बाज़ार में उछल रही थीं और ट्रोल्स के शिकार हो रही थीं, तब भी विक्की ने उनके साथ खड़ा होने का समर्थन किया था। यह बयान वंदना की ओर से आम जनता को विक्की जैन के मनोबली को बढ़ाने के साथ-साथ फैंस को उनके और अंकिता के रिश्ते के बारे में जानने का एक मौका देने का माध्यम है। इसके साथ ही वंदना ने यह भी कहा कि सुशांत के मौत केस में विक्की ने अपना जीवन समर्पित कर दिया है और उनके जाने के बाद से वह एक सच्ची समर्थक बन गया है। इस खबर के चलते सोशल मीडिया पर शुरू हुए अंकिता और विक्की के प्रशंसा ट्रेंड भी हो रहे हैं। फैंस इस पर सवाल उठा रहे हैं कि क्या अंकिता और विक्की की जोड़ी आगे भी बरकरार रहेगी।

यह बयान ऐसा आता है जैसा इससे पहले के दिनों में कोई शक ही नहीं था कि विक्की ने अंकिता के पक्ष में खड़ा होने का धीरेधीरे अपना फैसला किया है। इसे लेकर भी वंदना ने कहा कि विक्की ने उनकी परिवारिक पासंद के खिलाफ किये जा रहे प्रश्नों का बदला ही लिया है। वंदना भी इस बात का उल्लेख करती है कि उन्हीं दिनों दामाद के मनोबल को कायम बनाने का आपत्तिजनक प्रयास किया जा रहा था।

READ  राजनीति गुरु - एक साथ 2 बच्चों की मां बनेंगी 34 की एक्ट्रेस, नन्हें मेहमानों के लिए घर में बनाई नर्सरी, दिखाई झलक - आज तक

अंकिता और विक्की के बीच के रिश्ते की बात सबसे पहले जब अंकिता के प्रेमपति सुशांत सिंह राजपूत अचानक निधन हुआ था तब खबरें आई थीं। उसके बाद अंकिता के इंस्टाग्राम पर उनकी ट्रिप की पिक्चर शेयर करते दिखाई दीं थीं और इसके बाद विक्की ने उन्हें समर्थन दिया था। हालांकि, सोशल मीडिया पर इस घटना को रंगे हाथों लेने के बाद भी कुछ लोगों ने इसे नकारा था। इसके बीच विक्की और अंकिता की ठोस दोस्ती आती-जाती रही है। अब वंदना भी सारे तथ्यों को सामान्य मनोरंजन से निष्कर्ष निकालते हुए दामाद की कमी को ठप करने का प्रयास कर रही हैं।

वंदना का बयान हमारी बड़ी पसंदीदा कार्यक्रम ‘राजनीति गुरु’ के संपादक और मुख्य संपादक शीला जी को दिया गया।