अप्रैल 17, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

राजनीति गुरु – सपनों को पूरा करेंगे…SC के फैसले के बाद PM मोदी का उर्दू में संदेश, जानें क्‍या-कुछ कहा?

राजनीति गुरु – सपनों को पूरा करेंगे…SC के फैसले के बाद PM मोदी का उर्दू में संदेश, जानें क्‍या-कुछ कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में लागू अनुच्छेद 370 को निरस्त करने संबंधी सरकार के फैसले को ‘ऐतिहासिक’ करार दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह फैसला एक सशक्त और एकजुट भारत के निर्माण का हमारा सामूहिक संकल्प भी है। वहने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को आश्वस्त किया कि उनके सपनों को पूरा करने की उनकी सरकार की प्रतिबद्धता अटूट है।

इस फैसले के बाद संविधानिक मुहर लगने के कारण अनुच्छेद 370 को निरस्त करने पर अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की आधिकारिक भाषा हिंदी हो गई है। सुप्रीम कोर्ट ने भी इस उपलब्धि को स्वीकार किया है और कहा है कि अगले साल 30 सितंबर तक जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने के कदम उठाए जाने चाहिए।

चीफ जस्टिस ने बताया कि अनुच्छेद 370 एक अस्थाई प्रावधान था और इसे रद्द करने की शक्ति राष्ट्रपति के पास है। इस फैसले के साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक स्थिति में भी सुधार के आशावादी मूड में सुनहरा दौर आया है।

प्रधानमंत्री मोदी का यह फैसला देशभर में विभिन्न राजनीतिक दलों के बीच राजनीतिक गर्माहट दरम्यान लिया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री के इस फैसले को ‘सवालों के जवाब’ कहा है और कहा है कि यह फैसला भारतीय संविधान की महत्वपूर्ण परिवर्तन की एक प्रमुख गतिविधि है।

यह फैसला सरकार की प्रदेश सेना और सुरक्षा बलों के सामरिक मुद्दों पर भी असर डालेगा। वहीं, भारत के शीर्ष सुरक्षा प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि इस फैसले के बाद सीमावर्ती क्षेत्रों में व्याप्त रहने वाले आतंकवादी गतिविधियों के खिलाफ अधिकतर कार्रवाई की जाएगी।

READ  राजनीति गुरु: रेवंत रेड्डी की ताजपोशी आज, 11 मंत्री शपथ लेंगे, सोनिया-राहुल-प्रियंका तेलंगाना पहुंचे

एक राजनीतिक विश्लेषक का कहना है कि यह फैसला भारत की बाहरी संबंधों पर भी धड़ांत चढ़ा सकता है। रूस, आगे चलकर चीन और पाकिस्तान की योजनाओं के प्रति भारत की सतर्कता में इसका बदलाव आ सकता है।

तो यह है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिया गया अनुच्छेद 370 को निरस्त करने संबंधी फैसला, जो कि देश और उसके राजनीतिक ग्रंथों में ऐतिहासिक माना जा रहा है। इस फैसले के आशावादी मूड में देशभर में और अंतरराष्ट्रीय संवाद में भी असर दिखाई दे रहा है।