अप्रैल 17, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

राजनीति गुरु: संवेदनशीलता@1,00,000: दो साल में सेंसेक्स 1 लाख के पार, इन सेक्टर के शेयरों में आएगी बंपर तेजी – मनी कंट्रोल

राजनीति गुरु: संवेदनशीलता@1,00,000: दो साल में सेंसेक्स 1 लाख के पार, इन सेक्टर के शेयरों में आएगी बंपर तेजी – मनी कंट्रोल

बीएसई सेंसेक्स ने इंट्रा-डे में 70 हजार के लेवल को पार कर दिया है। यह जानकर सेंसेक्स के निवेशकों के लिए बहुत खुशी की बात है। अनुमानित है कि वर्ष 2025 में सेंसेक्स 1 लाख के भी लेवल को पार कर जाएगा। यह मतलब है कि सेंसेक्स में करीब 43% का उछलाव हो सकता है और सालाना 19.5% की ग्रोथ होगी। इससे वैल्यूशन काफी बढ़ जाएगी।

वर्षों में कंपनियों के मुनाफे में बड़ी वृद्धि आई है इसलिए वैल्यूशन कंफर्ट जोन में हैं। निफ्टी 500 कंपनियों का कुल मुनाफा तीन गुणा बढ़ गया है। इससे भारतीय बाजार की कमजोरियों पर लगाम आई है। बैंकिंग और आईटी शेयरों का महत्वपूर्ण दबदबा है और यह आगे भी बढ़ेगा। आईटी कंपनियों को ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के तेजी मिलेगी और बैंकों का नेट इंटरेस्ट मार्जिन बेहतर होगा।

वैल्यूशन की दृष्टि से कोई चिंता नहीं है। सेंसेक्स में आगे वृद्धि के अपेक्षा कंपनियों के मुनाफे में भी तेजी आ रही है। अगर कंपनियों के मुनाफे में इसी तरह का उछलाव रहा तो कुछ ही वर्षों में सेंसेक्स में बहुत तेजी आएगी। यह सूचक हो रहा है कि आगामी परिवर्तनों के साथ निवेशकों को बहुत आईना करना होगा।

वैल्यूएशन के इस बढ़ते माध्यम से बाजार में उछलाव आ रहा है और यह निवेशकों के लिए शानदार मौका है। वैल्यूएशन कंफर्ट जोन में होने से व्यापारियों का मनोबल बढ़ रहा है और उनकी चिंताओं पर कारगर नियंत्रण है। सेंसेक्स के चारों ओर गतिशीलता बढ़ रही है, जिससे निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलने की संभावना बढ़ रही है।

वैल्यूएशन के इस अच्छे संकेत को देखते हुए निवेशकों को अच्छी तरह से परिकल्पित रखेंगे। संगठित मार्केट के मामले में भी वैल्यूएशन तेजी के साथ बढ़ रही है। इससे बाजार में भरोसेमंदी की संकेत मिल रही है। इसलिए निवेशकों को चिंता करने की जरूरत नहीं है और वे अपने निवेश संबंधी फैसलों को जारी रख सकते हैं।

READ  मल्टीबैगरशेयर: 3 साल में 545% रिटर्न, अब स्टॉक स्प्लिट का ऐलान कर सकती है कंपनी -राजनीति गुरु

इसप्रकार देखा जाए तो बाजार में वैल्यूएशन का मामला काफी सावधानीपूर्वक देखा जा रहा है और निवेशकों को खुद भी सावधान रहने की जरूरत है।