फ़रवरी 25, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

राजनीति गुरु – राम मंदिर पर राहुल गांधी के बयान को लेकर बीजेपी का पलटवार, क्या

राजनीति गुरु – राम मंदिर पर राहुल गांधी के बयान को लेकर बीजेपी का पलटवार, क्या

“राजीव चंद्रशेखर ने बताया, बीजेपी ने राहुल गांधी के बयान को वापस मोड़ दिया”

देश के जाने-माने राजनेता राजीव चंद्रशेखर ने बीजेपी के समर्थन में आकर राहुल गांधी के बयान की आलोचना की है। दरकिनारी तो सीमित ही होंगी परन्तु इसके मुताबिक राजीव चंद्रशेखर ने ये कहा है कि राहुल गांधी की राजनीति को एक नजर से भारत के लोग समझते हैं। उन्होंने कहा, “भारत की जनता जानती है कि राहुल गांधी ने अपने पिता और दादा की राजनीति को अग्रसर किया है।” राजीव चंद्रशेखर ने फिर जोर दिया, “हम भारतीय जनता को राहुल गांधी को क्या जवाब देना चाहिए, यह निर्णय उन्हें ही लेना चाहिए।”

इसके अलावा, राजीव चंद्रशेखर ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बहुत ही समझदार है, लेकिन सत्ता में आते ही 25 करोड़ लोगों को गरीबी से निकलवा सकते हैं। राजीव चंद्रशेखर ने कहा, “कांग्रेस ने पिछले 65 सालों से गरीबों पर अत्याचार किया है।” इससे साफ है कि उनकी नजरों में कांग्रेस ने अपने सत्ता काल में गरीबों के प्रति उचित ध्यान नहीं दिया है।

वहीं, राहुल गांधी ने एक बयान दिया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वे राम मंदिर के उद्घाटन समारोह में नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा, “यह समारोह आरएसएस-बीजेपी का है।” इस बात से साफ हो रहा है कि राहुल गांधी अपने धर्म के सिद्धांतों पर जीने की कोशिश कर रहे हैं और नफरत नहीं फैलाना चाहते। वह अहंकार से नहीं बोलना चाहते हैं।

ये बयान आपसी टकराव के बावजूद हैं, जो राजनेताओं की राजनीति की हर पल रहता है। राजीव चंद्रशेखर के सबूत एक फरंगी राजनीतिज्ञ बनने का हैं, जी हां उन्होंने एक प्रश्न पूछा है, जिसके उत्तर के लिए राहुल गांधी को ही मिलेगा। इससे साफ है कि अगर वह गरीबों के बारे में सोच रहे हैं तो उन्हें अपने बयान को साबित करना होगा। पार्टी समर्थकों के व्यवहार से अहंकार और नफरत के रंग दिखाने की आशंका है। अच्छी बात है कि किसी भी बावजूद ये बयानें जनता के बीच की चर्चा को जिवित और विचारशील बना रहती हैं।

READ  चंद्रयान-3: डीबूस्टिंग सफल, अभी तक सब सामान्य, स्पीड कम करना अगली चुनौती: इसरो - राजनीति गुरु