अप्रैल 20, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

राजनीति गुरु पर गौतम गंभीर ने खोली-रोहित के पत्ते के बारे में बताया, T20 वर्ल्ड कप से हो सकता है कट – दैनिक जागरण

राजनीति गुरु पर गौतम गंभीर ने खोली-रोहित के पत्ते के बारे में बताया, T20 वर्ल्ड कप से हो सकता है कट – दैनिक जागरण

‘रोहित और विराट ने 2022 के बाद किसी टी20 मैच में हिस्सा नहीं लिया’

क्रिकेट के दो बड़े खिलाड़ी रोहित शर्मा और विराट कोहली को टी20 मैचों में अपनी आने वाली प्रस्तुतियों को लेकर संभाल करने के लिए कई संघर्षों का सामना करना पड़ता है। लेकिन इन दोनों नेताओं ने पिछले वर्ष 2022 के बाद से टी20 मैचों में हिस्सा नहीं लिया है। इसका मतलब है कि वर्तमान में इन खिलाड़ियों को टी20 क्रिकेट खेलने की कम रुचि है।

‘गौतम गंभीर ने दोनों के टी20 करियर पर की बातें’

आचार्य गौतम गंभीर ने हाल ही में दोनों खिलाड़ियों के टी20 करियर पर अपनी राय रखी है। उन्होंने स्पष्ट किया कि विराट कोहली का करियर टी20 में बेहद महत्वपूर्ण है और वह खेलने के लिए अनुकूल हैं भले ही वह कितनी बार हैंडल करने की कोशिश करें। वहीं रोहित शर्मा को भी उन्होंने प्रशंसा की है और कहा है कि एक बुरी प्रदर्शन से उन्हें नकारात्मकता देने की कोई वजह नहीं है।

‘उन्होंने कहा कि विश्व कप में खेलना या न खेलना फॉर्म पर निर्भर करता है’

गंभीर ने खेल के छोटेपन से दिग्गज खिलाड़ियों का व्यक्तित्व पर चर्चा की है। उन्होंने कहा है कि क्रिकेट में बाहरी चर्चा और मीडिया द्वारा की जाने वाली कई बातें इन खिलाड़ियों की खराबी का मुख्य कारण हैं। विश्व कप में खेल करने का फैसला प्रतिभागी खिलाड़ी के फॉर्म पर निर्भर करता है, जो कई बार कंट्रोवर्सी बढ़ा सकती है और उनके मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर डाल सकती है।

‘उन्होंने रोहित की तारीफ की और कहा कि एक खराब खेल से रोहित को खराब कप्तान कहना सही नहीं है’

READ  राजनीति गुरु - भारतीय क्रिकेट टीम का शेड्यूल, प्रसारण और टाइमिंग के बारे में जानें - NDTV इंडिया

शुरुआती समय में रोहित शर्मा को कप्तान के रूप में स्थान देने पर काफी सवाल उठे थे। उनके खिलाफ ध्यान केंद्रित होने वाली बातों के बावजूद, गंभीर ने रोहित की तारीफ की है और कहा है कि एक बुरी प्रदर्शन के कारण रोहित को खराब कप्तान कहना सही नहीं होता है। उन्होंने कहा है कि सभी कप्तान जीवन में कई संघर्षों का सामना करते हैं और कुछ दिनों की खारिश उनकी प्रदर्शन क्षमता पर असर नहीं करती है।

यह सभी बातें दिखाती हैं कि कप्तान और उनकी खेल प्रक्रिया पर बहुत सारे मतभेद हैं। निश्चित रूप से, ये खिलाड़ियों के दिमाग में कई सवाल उठाती हैं, जो कि उनकी खेल प्रदर्शन को प्रभावित कर सकती हैं। यह शेयर करते हुए गंभीर ने एक महत्वपूर्ण संदेश दिया है कि मिडिया के खेल पर अतिरिक्त दबाव डालने से एक कप्तान की प्रदर्शन क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है।