फ़रवरी 25, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

राजनीतिक गुरु: अशोक चव्हान ने भाजपा में शामिलता प्राप्त की हैं, क्या जाएंगे राज्यसभा?

राजनीतिक गुरु: अशोक चव्हान ने भाजपा में शामिलता प्राप्त की हैं, क्या जाएंगे राज्यसभा?

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने अपनी राजनीतिक यात्रा को बीजेपी में उतरते हुए कैंप किया है। सोमवार को चव्हाण ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा कि आज से मेरा राजनीतिक जीवन फिर से शुरू हो रहा है। चव्हाण की इस घोषणा पर उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चन्द्रशेखर बावनकुले और मुंबई प्रदेश अध्यक्ष आशीष शेलार भी मंच पर मौजूद रहे। हालांकि, चव्हाण ने साफ किया है कि उन्होंने किसी कांग्रेस विधायक को अपने साथ ज्वाइन करने के लिए नहीं आमंत्रित किया है।

इस बारे में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए, चव्हाण से पुछा गया कि उन्होंने पूजा करते हुए क्या मांगा था। तो उन्होंने बताया कि वे घर से बाहर निकलते समय हमेशा पूजा करते हैं और भगवान का आशीर्वाद लेते हैं। यह उनकी सामान्य आदत है और अच्छे काम के लिए बाहर जाते समय भगवान की आशीर्वाद लेना उनकी मान्यता है।

अब यह संभावना है कि अशोक चव्हाण को बीजेपी राज्यसभा के साथ भेजा जा सके। उनकी भाजपा में शामिल होते ही राज्यसभा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की जा सकती है, क्योंकि बीजेपी के राज्यसभा चुनाव में चौथे उम्मीदवार की आवश्यकता होती है। इसलिए चव्हाण की चौथे उम्मीदवार की जगह ले लेने की संभावना अधिक है।

माना जा रहा है कि कांग्रेस विधायकों ने अशोक चव्हाण को फोन किया और उन्हें कहा है कि वे उनके साथ हैं। लेकिन कानून के कारण वे उनके साथ बीजेपी में ज्वाइन नहीं हो सकते। यह दलबदल कानून का होने का कारण माना जा रहा है।

READ  राजनीति गुरु : भारत-कनाडा टेंशन, गृहमंत्री अमित शाह से मिले सुखबीर बादल, बताया पंजाब में दहशत का माहौल - न्यूज़18 हिंदी

अशोक चव्हाण द्वारा उठाए गए इस कदम का उत्तर मुकाबला शरद पवार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका में देखा जा सकता है। पवार ने कहा है कि चव्हाण ने उन्हें राज्य पुरस्कार देने की धमकी दी है और उन्हें प्रताड़ित किया गया है। साथ ही पवार ने यह भी कहा है कि चव्हाण ने भ्रष्टाचार के केसों में संलिप्त होने की संभावना है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई आगे रखी है।

चव्हाण की बीजेपी में शामिल होने से महाराष्ट्रीय राज्यसभा चुनाव में पलटवार की संभावना बढ़ी है। चव्हाण के बीजेपी ज्वाइन करने पर खुशी का माहौल बना हुआ है लेकिन कुछ लोगों को यह खबर नुकसानदायक लग रही है। वहीं, चव्हाण ने पवार के खिलाफ किए गए आरोपों को खारिज किया है और कहा है कि वह सप्ताहांत तक अपने पक्षपात का खंडन करेंगे।

इसके अलावा, चव्हाण की पार्टी से निकलते वक्त वह सुप्रीम कोर्ट जा सकते हैं। चव्हाण ने पहले ही कहा था कि अगर प्रदर्शन नहीं मिला तो उन्हें उच्चतम न्यायालय जाना होगा। पवार के खिलाफ प्रस्तावित मामलों के अलावा चव्हाण पर अन्य धाराओं के तहत भी केस दर्ज हैं।