अप्रैल 20, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

यूएन के प्रस्ताव के बाद क्या इसराइल अब अलग-थलग पड़ रहा है? – राजनीति गुरु

यूएन के प्रस्ताव के बाद क्या इसराइल अब अलग-थलग पड़ रहा है? – राजनीति गुरु

इसराइल और हमास के बीच ग़ज़ा में हाल ही में तनातनी बढ़ी है। इसराइल ने कहा है कि हमास ने इसराइल के साथ युद्ध विराम के वर्तमान प्रस्ताव को ख़ारिज कर दिया है। प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू के कार्यालय ने इसके बाद फ़लस्तीनी हथियारबंद समूह की ‘भ्रमपूर्ण मांगों’ के आगे इसराइल सरेंडर नहीं करेगा बताया है।

इसराइल का कहना है कि हमास ने युद्ध ख़त्म करने और पूरी तरह से इसराइली सुरक्षाबलों के ग़ज़ा के बाहर जाने की मांग की है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने इसराइल का बयान ‘लगभग हर मामले में ग़लत है’ बताया है। इसराइली सेना ने कहा है कि हमास की सैन्य विंग के उप नेता मरवान इसा दो सप्ताह पहले नुसैरत शरणार्थी कैंप के टनल कॉम्प्लेक्स पर हुए हवाई हमले में मारे गए हैं।

इसराइल ने ग़ज़ा में अभियान चलाया था जिसमें 1200 लोगों की मौत हुई और 253 लोगों को बंधक बना लिया गया था। इसराइल ने ग़ज़ा में अभियान चलाने के बाद बिना सुरक्षा परिषद के अनुमति के अधीन इलाकों पर आरामकलों की अधिकतम हड़ताल दिन की घोषणा की थी। इसराइल ने वॉशिंगटन जा रहे अपने प्रतिनिधिमंडल के दौरे को रद्द कर दिया है।

हमास ने युद्ध विराम की योजना को ख़ारिज कर दिया है जिसमें भारत और मिस्र की मध्यस्थता थी। इस्राइली सेना ने कहा है कि उसने मंगलवार को ग़ज़ा में 60 ठिकानों को निशाना बनाया है जिसमें ‘आतंकी सुरंगें, आतंकी ढांचा और सैन्य ढांचा भी शामिल है’।

इस्त्राइल की जनता में इस तनावपूर्ण स्थिति को लेकर चर्चाएं हैं और राजनीतिक गुरुओं का कहना है कि इस परिस्थिति का निदान जल्दी तलाशना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए ‘राजनीति गुरु’ पे बने रहें।

READ  राजनीति गुरु - ईराक-सीरिया में अमेरिका का लेट नाइट एक्शन, 85 टारगेट पर भीषण एयरस्ट्राइक, 18 लोग मारे गए, कमांड सेंटर ध्वस्त - आज तक