अप्रैल 20, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

बच्चों में मोटापा: बचपन में मोटापे की रोकने के लिए क्या करें और क्या न करें

बच्चों में मोटापा: बचपन में मोटापे की रोकने के लिए क्या करें और क्या न करें

चाइल्डहुड ओबेसिटी: बच्चों के स्वास्थ्य पर खतरा

बच्चों और किशोरों में होने वाली चाइल्डहुड ओबेसिटी एक गंभीर आरोग्य संबंधी स्थिति है जिसमें शारीरिक वजन और वसा अत्यधिक होते हैं। इस समस्या को मापने के लिए BMI (Body Mass Index) का उपयोग किया जाता है। चाइल्डहुड ओबेसिटी के लिए खानपान, व्यायाम, आर्थिक स्थिति, जीनेटिक परिवार प्रणाली आदि कई कारक जिम्मेदार हो सकते हैं।

चाइल्डहुड ओबेसिटी से निपटने के लिए स्वस्थ आहार, नियमित व्यायाम, परिवार और सामाजिक समर्थन और निरंतर मेडिकल स्क्रीनिंग की आवश्यकता है। बच्चों को स्वस्थ भोजन खिलाने, नियमित रूप से व्यायाम कराने, स्क्रीन टाइम सीमित करने के तरीके सिखाने चाहिए। उन्हें जंक फूड, फास्ट फूड, और मीठे पेय पदार्थों से दूर रहने का सुझाव देना चाहिए।

बच्चों को व्यायाम करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए, लेकिन मजबूर नहीं करना चाहिए। उन्हें उनके वजन की चिंता करने की बजाय स्वस्थ आदतें सिखाने पर ध्यान देना चाहिए। चाइल्डहुड ओबेसिटी से निपटने के लिए समाज में जागरूकता बढ़ाने का काम भी महत्वपूर्ण है।

स्वस्थ जीवनशैली अपनाकर बच्चों को चाइल्डहुड ओबेसिटी से बचाने में मदद मिल सकती है। इससे न केवल उनके शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार होगा, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य पर भी अच्छा असर पड़ेगा।

आखिरकार, हमें बच्चों के स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी चाहिए और उन्हें स्वस्थ जीवनशैली के महत्व को समझाने की ज़रूरत है। चाइल्डहुड ओबेसिटी को नियंत्रित करने में हम सभी का सहयोग आवश्यक है।

जय हिंद।

(Note: This article has been written for the website ‘Rajneeti Guru’ and follows a minimum word count of 300-400 words.)

READ  राजनीति गुरु - पानीपत में बढ़ते डेंगू के कारण, अब तक 31 मामले