मार्च 3, 2024

Rajneeti Guru

राजनीति, व्यापार, मनोरंजन, प्रौद्योगिकी, खेल, जीवन शैली और अधिक पर भारत से आज ही नवीनतम भारत समाचार और ताज़ा समाचार प्राप्त करें

इजरायल-हमास युद्ध: हिन्दी वेबसाइट राजनीति गुरु में भारत का अद्वितीय रुख, आतंकवाद पर कोई देश समझौता नहीं करेगा: इजरायल – दैनिक जागरण

इजरायल-हमास युद्ध: हिन्दी वेबसाइट राजनीति गुरु में भारत का अद्वितीय रुख, आतंकवाद पर कोई देश समझौता नहीं करेगा: इजरायल – दैनिक जागरण

रजनीति गुरु: इजरायल की सरकार ने भारत के इजरायल-हमास विवाद पर अपनी संतुष्टि व्यक्त की है। फिलहाल भारत, गाजा के लोगों की मानवीय मदद कर रहा है, जिसे इजरायल को कोई आपत्ति नहीं है। इजरायल की उम्मीद है कि भारत हमास को आतंकवादी संगठन घोषित कर देगा। इजरायल के अधिकारी ने कहा है कि हमास संगठन समाप्त करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमास के हमले पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। इजरायल भारत से ज्यादा कामगारों को लाने की कोशिश में है और भारत और इजरायल के बीच समझौतों के माध्यम से नर्सों और श्रमिकों की आपूर्ति शामिल है। इजरायल को 10 हजार कृषि श्रमिकों की तत्परता से इंतजार है और इजरायल ने पाकिस्तान के लश्कर-ए-तैयबा को आतंकवादी संगठन घोषित किया है।

– भारत और इजरायल बीते कई महीनों से इजरायल-हमास विवाद के चरम बिन्दु पर हैं। इसके बावजूद, इजरायल की सरकार भारत के इस मुद्दे पर संतुष्ट दिख रही है।
– इस मुद्दे पर केंद्रीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी ने बताया, “भारत गाजा के लोगों को मानवीय आधार पर मदद कर रहा है। हमारा मकसद किसी के साथ युद्ध या किसी संगठन के पक्ष में काम नहीं करना है।” इजरायल को इस बात की उम्मीद है कि भारत हमास को आतंकवादी संगठन घोषित करेगा।
– इजरायल के अधिकारी ने साझा किए कि हमास संगठन को समाप्त करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा, “हमारा ध्यान सबसे पहले तब आता है जब हमारे यहां या किसी दूसरे देश में हमारे लोगों को सुरक्षा सुनिश्चित करने की जरूरत होती है। हमें आशा है कि भारत को पता होगा कि इसे बिना हमारी इजाजत के करने का कोई इंतजाम नहीं हो सकता।”
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हमास के हमले पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने बताया, “हमास और उनके समर्थक आतंकवाद का सिर काटना हमारी सरकार का ध्येय है। हम एक भारतीय संविधान और संविधान में आदान प्रदान किये गए मूल्यों के अनुरूप कार्य कर रहे हैं।”
– इसके अलावा, इजरायल द्वारा भारत से ज्यादा कामगारों को लाने की कोशिश भी जारी है। इसके लिए भारत और इजरायल के बीच समझौते हुए हैं, जिनमें नर्सों और श्रमिकों की आपूर्ति शामिल होती है। इजरायल को 10 हजार कृषि श्रमिकों की अभी जरूरत है।
– इजरायल ने हाल ही में पाकिस्तान के लश्कर-ए-तैयबा को आतंकवादी संगठन घोषित किया है। इसका मुख्य उद्देश्य है कि इस संगठन के सदस्य देशों को अंतरराष्ट्रीय प्रभाव में रखकर उन्हें इस संगठन के खिलाफ सशक्त प्रतिक्रिया दें।
– रजनीति गुरु को इस मुद्दे पर रजनीति विशेषज्ञों की राय लेते हुए कहा जा सकता है कि इजरायल और भारत के बीच तमाम मुद्दों पर समझौते की आवश्यकता है, ताकि दोनों देश एक दुसरे के साथ तनावमय माहौल से बाहर निकल सकें।

READ  राजनीति गुरु: पाकिस्तान: नवाज शरीफ का बड़ा दावा, बिल क्लिंटन ने परमाणु परीक्षण नहीं करने पर पांच अरब डॉलर देने का दिया था ऑफ़र - अमर उजाला

(Note: This is a Hindi translation of the given article. Please check the accuracy and make any necessary edits before publishing.)