नीतीश राज में ठगा हुआ महसूस कर रहे युवाः कारी सोहैब

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने युवाओं को सुनहरे सपने दिखा कर ठगने का काम किया है। युवाओं को जब लगा की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें ठगा है। उनके सपने पूरे नहीं हुए। तब युवा अपने हक की मांग करने लगे। लेकिन छात्रों की जायज मांगों को दबाने के लिये प्रशासन द्वारा लाठीचार्ज किया जा रहा है। नीतीश सरकार बौखला गई है। ये लोग हताश और परेशान हो गए हैं। ये बातें राजनीतिक गुरु से खास बातचीत में युवा राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष कारी सोहैब ने कही।

उन्होंने आरोप लगाया कि इस सरकार में छात्रों , दलितों ,बुजुर्गों, किसानों किसी को भी नहीं बख्शा जा रहा है। बिहार की जनता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से परेशान है। यह डबल इंजन वाली बुलेट ट्रेन लोगों को केवल सपना दिखाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि बिहार के छात्र लाठीचार्ज से डरने वाले नहीं हैं। वह अपने हक की लड़ाई लड़ते रहेंगे। बिहार के छात्रों ने जब - जब अपनी ताकत दिखाई है। देश की सत्ता पलट दी है। बिहार में ठगों की सत्ता का जाना अब तय है।

देश के संविधान में विश्वास करने वाले लोग ही सत्ता में आएंगे। राजद को सत्ता में आने के बाद युवाओं को उनका हक मिलेगा। सात निश्चय कार्यक्रम महागठबंधन के साथ बना था। और जब तक राजद सरकार में था। सात निश्चय कार्यक्रम सुचारू रूप से चल रहा था। महागठबंधन टूटा तो सात निश्चय कार्यक्रम भी ठप हो गया। बिहार के जनादेश का अपमान किया गया। बिहार की जनता को ठगने का काम किया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सारी योजनाएं ठप हो गई हैं। बिहार में कोई काम नहीं हो रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का काम केवल भाजपा और संघ के फरमान को मानना है। भाजपा उनको कोई काम नहीं करने दे रही है। ये लोग केवल धर्म के नाम पर दंगा फैला रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपना बदला ले रहे हैं। भाजपा ही उन्हें बिहार में सत्ता से बाहर कर देगी। जनता ने नीतीश कुमार को नापसंद कर दिया है। ITI शिक्षकों को हटाने का विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि राजद शिक्षकों के साथ उनके हक की लड़ाई लड़ेगी। यह अन्याय केवल ITI के लोगों के साथ ही नहीं बल्कि तालिमी मरकज वालों को भी दो-तीन साल काम करवा कर उन्हें बाहर कर दिया है। राजद इन सभी लोगों के हक के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ने को तैयार है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *