अब हाशिए पर पड़े नेता करेंगे ‘मन की बात’

बीजेपी आलाकमान से नाखुश चल रहे बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रीय मंच बनाने की तैयारी की है। इस मंच से कई राजनीतिक दलों के नेता जुड़ेंगे। खासकर ऐसा नेता, जो हाशिए पर हैं और उन्हें अपनी ही पार्टी में उचित तवज्जो नहीं मिल पा रही है। सिन्हा का यह कदम भाजपा के लिए सिरदर्द बन सकता है, वजह है कि लोकसभा चुनाव में महज 16 महीने बचे हैं, ऐसे संवेदनशील समय में इस मंच के जरिए मोदी सरकार को आर्थिक नीतियों को लेकर बड़े हमलों का सामना करना पड़ेगा।

इस नेशनल फोरम को ‘राष्ट्रीय मंच’ नाम दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि इस फोरम से कांग्रेस नेता मनीष तिवारी, आम आदमी पार्टी के आशुतोष और आशीष खेतान, जदयू नेता पवन वर्मा, सपा के घनश्याम तिवारी, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी और एनसीपी के मजीद मेमन आदि जुड़ेंगे। पवन वर्मा मोदी सरकार की नीतियों के आलोचक रहे हैं। हाल में आम आदमी पार्टी की ओर से तीन लोगों को राज्यसभा भेजा गया। इसमें कांग्रेस छोड़कर कुछ दिन पहले पार्टी में शामिल व्यक्ति को राज्यसभा भेजे जाने पर सवाल उठे थे तो आशुतोष बड़ी मुश्किल से बचाव कर पाए थे। माना जा रहा है कि पत्रकारिता छोड़कर केजरीवाल के साथ जुड़ने वाले आशुतोष भी पार्टी में असहज हैं। मंच के गठन के लिए महात्मा गांधी की 70 वीं पुण्यतिथि के मौके 30 जनवरी को चुना गया है।

बताया जा रहा है कि इस मंच के जरिए राष्ट्रीय महत्व से जुड़े मुद्दों पर चर्चा को बढ़ावा दी जाएगी। ताकि केंद्र सरकार की नीतियों की समीक्षा कर जनता को उसके सही और गलत पहलुओं से रूबरू कराया जाए। पिछले कुछ समय से यशवंत सिन्हा बागी रुख अपनाए हुए हैं। चूंकि वित्त मंत्री के तौर पर काम का अनुभव हैं, इस नाते माना जा रहा है कि वे मंच के जरिए देश की अर्थव्यवस्था से जुड़े मुद्दे उठाएंगे।

खास बात है कि बजट सत्र की पूर्व संध्या पर लांच हो रहा यह नेशनल फोरम सरकार के खिलाफ बड़ा मंच बन सकता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय मंच किसी भी व्यक्ति को अपनी पार्टी की सदस्यता छोड़ने के लिए नहीं कहेगा। लोग बिना पार्टी छोड़े ही मंच से जुड़ सकेंगे। लोग खुलकर अपने मन की बात कर सकेंगे। मंच से जुड़े लोगों का कहना है कि इसे आगे राजनीतिक दल में तब्दील करने का कोई इरादा नहीं है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *