शिवसेना,बीजेपी से नाता तोड़े तो जरूर सोचेंगेः पृथ्वीराज चौहान

मिशन 2019 की तैयारियों को लेकर सभी पार्टियां रेस हो गई हैं। फिलहाल ये फोकस किया जा रहा है कि किसी दल के साथ गठबंधन बनाने से फायदा हो सकता है, इस नफा-नुकसान का आकलन और मथंन किया जा रहा है। इसलिए देश के हर राज्य में सियासी गणित बनाई जा रही है। उन सब के बीच कुछ नए समीकरण बनने के आसार दिख रहे हैं और कुछ पुराने समीकरण टुटने के कयास लगए जा रहे हैं। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण के एक बयान ये तो कुछ ऐसे ही संकेत मिल रहे हैं।

दरअसल कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि शिवसेना अगर बीजेपी विरोधी दलों के साथ आना चाहती है तो पार्टी को पहले राजग से नाता तोड़ कर सत्ता से हटना होगा। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने संकेत किया कि अगर उनकी पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व मंजूरी देता है तो शिवसेना और कांग्रेस के साथ औपचारिक गठजोड़ हो सकता है। चह्वाण ने संवाददाताओं को बताया, ''शिवसेना बीजेपी के साथ सत्ता में है और अगर यह अलग होकर बीजेपी विरोधी दलों के साथ आना चाहती है तो हम इस पर विचार करेंगे और एक प्रस्ताव दिल्ली भेजा जा सकता है.''

गौरतबल है कि शिवसेना ने पिछले दिनों ऐलान किया कि साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में वह बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। पार्टी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में फैसला लिया था कि वह अगले लोकसभा चुनावों में एनडीए का हिस्सा नहीं होगी। शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राज्यसभा सांसद संजय राउत ने बीजेपी से अलग होने का प्रस्ताव रखा था। जिसे पार्टी ने सर्वसम्मति से मान लिया। पार्टी का मानना है कि बीजेपी के साथ होने से पिछले तीन साल में उसका मनोबल गिरा है। शिवसेना ने ऐलान किया कि वह ना सिर्फ अगले लोकसभा चुनाव बल्कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भी अकेले मैदान में जाएगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *