राष्ट्रपिता के आदर्शों पर चलकर ही होगा समृद्ध झारखंड का निर्माण- सीएम रघुवर

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वीं जयंती के अवसर पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू और मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मोरहाबादी के बापू वाटिका स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किये।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रांची स्थित आड्रे हाउस का नाम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी स्मृति भवन किये जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपने को साकार करना हम सभी का कर्तव्य है। आज झारखंड 99 प्रतिशत ओडीएफ हो चुका है। पूरे राज्य में स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरूकता आई है। वर्ष 2014 से पहले राज्य मात्र 16 प्रतिशत ओडीएफ था। 15 नवंबर 2018 तक हमारा राज्य शत-प्रतिशत ओडीएफ हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 02 अक्टूबर 2014 को राजपथ से जनसमूह को संबोधित करते हुए समस्त देशवासियों से यह आह्वान किया था कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर हम स्वच्छ भारत उनके चरणों में समर्पित करें। इस लक्ष्य को पूरा करने में झारखंड महती भूमिका निभा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शत प्रतिशत शौचालयों का उपयोग हो यह सुनिश्चित करना हम सभी का लक्ष्य होना चाहिए। इसके लिए मिशन मोड में लोगों के बीच जागरूकता फैलाएं। सामुदायिक स्वच्छता सिर्फ सरकारी स्तर पर हो रहे प्रयास से प्राप्त नहीं किया जा सकता, इसके लिए सभी को प्रतिबद्धता और संकल्प के साथ कार्य करने की आवश्यकता है। "मुझे क्या-मेरा क्या" की भावना से बाहर निकलकर समाज के विकास में योगदान दें।

उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कर्मी, जल सहिया एवं स्वच्छताग्राही बहनों के अथक प्रयास का ही परिणाम है कि आज हम स्वच्छता के क्षेत्र में झारखण्ड को अग्रणी राज्यों की सूची में शुमार कर सके हैं। राज्य की सवा तीन करोड़ जनता ने भी पूरी ईमानदारी से इस मिशन को पूरा करने में सहयोग दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आदर्शों पर चलकर ही हम सशक्त एवं समृद्ध झारखंड का निर्माण कर सकेंगे। किसी भी समस्या का समाधान अहिंसा के रास्ते पर ही चल कर करना चाहिए। हिंसा का रास्ता अपनाकर कभी भी किसी समस्या का समाधान नहीं किया जा सकता है। उन्होंने मुख्यधारा से भटके हुए लोगों से अपील की कि वे मुख्यधारा में लौटकर समाज और राष्ट्र के विकास में अपनी भूमिका अदा करें। आतंकवाद, उग्रवाद, माओवाद रूपी हिंसात्मक रास्तों से निकलकर सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वें जयंती समारोह वर्ष की शुरुआत पूरे देश में उत्साह के साथ हो रहा है। आज ही के दिन भारत मां की कोख से ऐसे महापुरुष का जन्म हुआ था जिन्होंने अहिंसा को अपनी शक्ति बना कर देश को आजाद कराने में महती भूमिका निभाई थी। राष्ट्रपिता महातमा गांधी के मान-सम्मान को अक्षुण्ण रखना हम सभी देशवासियों का कर्तव्य है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *