देखने लायक होंगे 4 सीटों पर उपचुनाव के नतीजे

-दिल्ली की बवाना सहित आंध्र प्रदेश और गोवा की 4 सीटों पर उपचुनाव, वोटिंग जारी

देश के तीन राज्यों की चार विधानसभा सीटों के लिए आज उपचुनाव हो रहे हैं। दिल्ली में बवाना, गोवा में पणजी और वालपेई के साथ आंध्र प्रदेश की नंदयाल सीट पर विधायक चुनने के लिए वोटिंग चल रही है। चुनाव के नतीजों का किसी सियासी समीकरण पर कोई सीधा असर नहीं होगा, लेकिन जीत-हार बड़ा संदेश देने का काम करेगी। दिल्ली में आम आदमी पार्टी के लिए यह चुनाव काफी अहम माना जा रहा है। गोवा में खुद सीएम मनोहर पर्रिकर चुनावी मैदान में हैं तो आंध्र की एक सीट पर उपचुनाव मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है।

केजरीवाल की प्रतिष्ठा दांव पर
दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले यहां से AAP के विधायक वेद प्रकाश इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे। इसी वजह से इस सीट पर उपचुनाव की नौबत आई है। उपचुनाव में बीजेपी की ओर से वेद प्रकाश, कांग्रेस की ओर से सुरेंद्र कुमार और AAP के ओर से रामचन्द्र चुनाव मैदान में है। कुल 8 उम्मीदवार यहां से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। यहां करीब दो लाख 94 हजार मतदाता हैं। दिल्ली विधानसभा में AAP के पास हालांकि पूर्ण बहुमत है, लेकिन नगर निगम चुनाव, राजौरी गार्डन विधानसभा सीट के उपचुनाव और पंजाब-गोवा में उम्मीद के मुताबिक नतीजे न आने से निराशा का सामना कर रही पार्टी इस सीट पर हर हाल में जीत दर्ज करके कार्यकर्ताओं में जोश भरना चाहती है। उधर 70 सदस्यीय विधानसभा में केवल 4 विधायकों वाली बीजेपी को उम्मीद है कि पिछले काफी समय से चल रहा उसका विजयी अभियान बवाना सीट पर भी कायम रहेगा। पिछले विधान चुनाव में पूरी तरह साफ हो चुकी कांग्रेस के लिए यह उपचुनाव अहम का सवाल बना हुआ है। इस सीट को जीतकर वह भी असेंबली में प्रवेश का द्वार खोलना चाहती है।

गोवा में खुद पर्रिकर मैदान में
गोवा के मुख्यमंत्री और पणजी विधानसभा सीट के उपचुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार सीएम मनोहर पर्रिकर हैं। पर्रिकर को कांग्रेस के गिरीश चोडांकर और गोवा सुरक्षा मंच (जीएसएम) के आनंद शिरोडकर चुनौती दे रहे हैं। बीजेपी विधायक सिद्धार्थ कुनकालीनेकर के हाल ही में अपने पद से इस्तीफा देने के कारण पणजी सीट खाली हुई है। अपना वोट डालने के बाद पर्रिकर ने कहा, 'मैं कोई अनुमान नहीं लगाऊंगा, पर जीत काफी ठोस होगी।' उधर कांग्रेस विधायक विश्वजीत राणे के इस्तीफे से वालपेई सीट खाली हुई। यहां भी आज मतदान कराया जा रहा है।

आंध्र प्रदेश: चंद्रबाबू सरकार की परीक्षा?
तेलुगुदेशम पार्टी के विधायक भुमा नागिरेड्डी के निधन होने के कारण नंदयाल सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है। आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले की यह सीट सीएम चंद्रबाबू नायडू के लिए प्रतिष्ठा का विषय बनी हुई है, क्योंकि विपक्षी दल वाईएसआर कांग्रेस ने इस चुनाव को प्रदेश सरकार के तीन साल के कामकाज की परीक्षा के तौर पर पेश करने की कोशिश की है। वाईएसआर कांग्रेस ने यहां से शिल्पा मोहन रेड्डी को मैदान में उतारा है। खुद पार्टी अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी ने यहां जमकर प्रचार किया। बता दें कि 1996 के लोकसभा चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने इस सीट से तेलगुदेशम पार्टी के उम्मीदवार को हराया था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *