सवर्ण आरक्षण पर महागठबंधन में घमासान

गरीब सवर्णों के आरक्षण के मुद्दे पर सूबे में सियासत गरमाने लगी है। इस मुद्दे को लेकर महागठबंधन के दो बड़े नेता जीतन राम मांझी और उदय नारायण चौधरी आमने-सामने हैं।

पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की मानें तो हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा की स्थापना काल से ही गरीब सवर्णों के आरक्षण को लेकर वे कहते रहे हैं। उन्होंने इसके लिए केंद्र सरकार से सबसे पहले जातिगत जनगणना के आकड़े जारी करने की मांग की है। उस आंक़ड़े के आधार पर संविधान संसोधन करते हुए लोहिया के विचार के अनुसार हर समाज को आबादी के अनुसार भागीदारी देने की व्यवस्था करने की मांग की है।

वहीं दूसरी ओर मांझी के गरीब सवर्णों के लिए आरक्षण की मांग का पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी कड़ा विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि 15 फीसदी आरक्षण मांगने वाले को बहुजन समाज सबक सिखाएंगे। उन्होंने कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने संविधान में सामाजिक और शैक्षणिक आधार पर कमजोर लोगों को लिए आरक्षण की व्यवस्था की है न कि आर्थिक आधार पर।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *