36 प्रतिशत आरक्षण के लिए एकजुट हों पिछड़ेः लालचंद महतो

पूर्व मंत्री लालचंद महतो ने कहा कि जो जनप्रतिनिधि पिछड़ों की की बात करेंगे,आवाज उठाने वाले और पिछड़ों के आरक्षण को बढ़ाने की बात करेगा उसे ही लोकसभा और विधानसभा में भेंजें। उन्होंने कहा कि पिछड़ों को 36 प्रतिशत का आरक्षण मिलना ही चाहिए। ये बातें श्री महतो ने बासुकीनाथ नगर के भंगाबांध स्थित आईटीआई कैंपस में रविवार को पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा की एक प्रमंडलीय बैठक में कही।

इस मौके पर पूर्व सांसद सूरज मंडल ने कहा कि राज्य के पिछड़ों के साथ अन्याय हुआ है। को मिलने वाले आरक्षण में के साथ अन्याय हुआ है। झारखंड में पिछड़ों का आरक्षण 27 प्रतिशत से घटाकर 14 प्रतिशत कर दिया गया है। जबकि इस वर्ग के लोगों ने झारखंड को बनाने में काफी संघर्ष किया है। राज्य अलग होने के बाद उम्मीद थी कि पिछड़ों को वाजिब हक मिलेगा। लेकिन ये सरकार पिछड़ों को उनके अधिकार नहीं दे रही है। झारखंड में पिछड़ा वर्ग की आबादी को देखते हुए इसे 36 प्रतिशत किया जाना चाहिए।

वहीं इस मौके पर यादव महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष बजरंगी यादव ने कहा कि पिछड़ों को हर हाल में 27 प्रतिशत आरक्षण मिलना चाहिए। और उन्होंने सभा में उपस्थित सभी सदस्यों को अपने घरों के आगे और पीछे 27 प्रतिशत आरक्षण देना होगा का नारा लिखवाने का शपथ भी दिलवाया। इसके साथ ही उन्होंने पिछड़ों को एकजुट होकर इस लड़ाई को आगे लड़ने का आह्वान भी किया ।

वहीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे वरुण यादव ने पिछड़ों को अपना हक व अधिकार पाने के लिए संघर्ष करने की बात पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि दुमका जिला में पिछड़ा वर्ग का आरक्षण शुन्य कर दिया गया है। कार्यक्रम में मंच संचालन जयप्रकाश यादव ने किया। जबकि कार्यक्रम में गोड्डा, साहिबगंज देवघर, जामताड़ा, पाकुड़, दुमका सहित अन्य जिलों से आए पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा के हजारों सदस्य मौजूद थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *