लालू परिवार में उत्तराधिकार का संघर्ष खत्म, मीसा के बयान ने सब कुछ कर दिया साफ

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव इन दिनों पार्टी और परिवार दोनों से बागी तेवर अपनाए हुए हैं। उन्‍होंने कहा भी है कि अगर सही कहने का मतलब बागी होना होता है तो हां, मैं बागी हूं। कयास लगाया जा रहा है कि तेजस्वी और तेजप्रताप के बीच आपसी मतभेद बढ़ता जा रहा है। इससे राजद में फूट के आसार दिख रहे हैं।

चुनावी सरगर्मीयों के बीच लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती का एक ऐसा बयान सामने आया है जिससे तेजस्वी और तेजप्रताप दोनों भाईयों के बीच मनमुटाब की बात की पुष्टि करता है।

मीसा भारती एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि बड़ी बहन होने के नाते मेरे लिए सभी भाई बहन एक समान हैं। लेकिन अगर लालूजी के उत्तराधिकारी की बात की जाए तो मेरे छोटे भाई ही लालूजी के सुयोग्य उत्तराधिकारी हैं। उनका ये कहना तेज प्रताप के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है, क्योंकि तेज प्रताप ने जहानाबाद के मंच से ऐलान किया कि मैं ही हूं दूसरा लालू।

मीसा ने कहा कि पाटलिपुत्र की जनता मूलभूत समस्याओं से परेशान है। मोदी जी ने संविधान, आरक्षण, विकास खतरे में डाला। भाजपा के इशारे पर ही हमारे परिवार पर केस लादे गए हैं। लालू जी के साथ अमानवीय प्रताड़ना का बदला जनता लेगी।

मीसा ने तेजप्रताप और राजद नेता भाई वीरेंद्र के बीच विवाद और पाटलिपुत्र सीट से लोकसभा चुनाव के लिए भाई वीरेंद्र का टिकट काटकर मीसा को टिकट दिए जाने की बात पर मीसा ने कहा कि ये पार्टी का फैसला है और पार्टी चाहती है कि मैं पाटलिपुत्र क्षेत्र के लिए काम करूं। और तेजप्रताप और भाई वीरेंद्र के बीच का विवाद भी बेबुनियाद है।

मीसा ने कहा कि हमारे परिवार में सत्ता के लिए पार्टी नेतृत्व को लेकर कोई विवाद नहीं है, ये सब मीडिया की देन है। तेजप्रताप और तेजस्वी के बीच कोई मनमुटाव नहीं है। दोनों आपस में मिलते हैं। अभी तेजप्रताप के जन्मदिन पर हम सब वहां गए थे, हम साथ थे। तेजप्रताप शिवहर और जहानाबाद से उम्मीदवार चाहते थे लेकिन शिवहर का प्रत्याशी तो फेल कर गया और जहानाबाद है, देखिए, रिजल्ट अच्छा ही होगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *