तेजस्वी यादव का नीतीश पर कड़ा हमला

बक्सर में सीएम पर हुए हमले की घटना की गहराई तक जाना चाहिए कि ऐसा क्यों हुआ? महादलितों पर ज़ुल्म क्यों किया जा रहा है? महादलितों ने नीतीश कुमार का क्या बिगाड़ा है? CM एक तरफ़ गणतंत्र दिवस पर महादलित टोलों में झंडा फहराने का नाटक करते है। दूसरी तरफ़ डंडे चलवा उनका उत्पीड़न कर रहे है। जनादेश की डकैती करने और नए राजनीतिक परिणय सूत्र में बँधने के बाद जब नीतीश कुमार पहली बार चंपारण में समीक्षा के बहाने जनता के बीच गए और तो जनता ने काग़ज़ी विकास का हिसाब माँगना शुरू किया तो जनता को ही पुलिस से पिटवा रहे है।

मैंने पहले दिन ही कहा था कि माननीय मुख्यमंत्री को सबसे पहले अपने राजनीतिक चरित्र, नीति, विचार और सिद्धांत का आत्म-मनन और चिंतन करना चाहिए कि उन्होंने कैसा विकास किया है कि उन्हें चार साल में चार सरकार बदलनी पड़ी? मैंने जनता के आक्रोश और अपेक्षाओं को देखते हुए कहा था कि उन्हें समीक्षा नहीं पश्चात्ताप यात्रा निकालनी चाहिए। मुख्यमंत्री का प्रत्येक ज़िला में विरोध क्यों हो रहा है। हर जगह, हर समय, हर वर्ग के लोग उनका कठोर प्रतिकार क्यों कर रहे है?

नीतीश कुमार महिलाओं का हितैषी होने का ढोंग करते है फिर हर जगह महिलाओ के सामूहिक समूह उनका उग्र विरोध क्यों कर रहे है? आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर, एएनएम नर्सेज़, महादलित महिलायें, नियोजित शिक्षक हर कोई प्रदर्शन क्यों कर रहा है?मुख्यमंत्री को हवाई firing क्यों करवानी पड़ रही है? अगर महादलितों के मान-सम्मान और अधिकारों के साथ नाइंसाफ़ी होगी तो उनके हक़ों के लिए राजद कोई भी बलिदान देने में पीछे नहीं हटेगी। यह हमारी नीतीश सरकार को चेतावनी है। नंदन गाँव में जिन महादलित महिलाओं, बुज़र्गों और विदेश में रहने वाले लोगों के फ़र्ज़ी केस वापस नहीं किए तो राजद आंदोलन करेगा।

नीतीश कुमार ने कांट्रैक्ट पर कुछ रोबोटिक लोग रखे है जो बिना सोचे-समझे और तथ्यों को जाने अधूरे ज्ञान की उल्टियाँ करते रहते है। घटना के कुछ ही घंटो में जदयू के लोग कहते है तेजस्वी यादव ने हमला करवाया है। कितना हास्यास्पद बयान है। तुम्हारी सरकार, प्रशासन, सुरक्षा तंत्र और इंटेलिजेन्स तंत्र तेजस्वी यादव चला रहा है क्या? अगर तेजस्वी ने कराया है और नीतीश कुमार में हिम्मत है तो डलवा दें हथकड़ी। क्यों फ़ालतू में भाड़े के लोगों से फ़ालतू बुलवाते है?

सुशील मोदी कहते है की राजद और शराब माफ़िया ने हमला करवाया है। अगर ऐसा है तो आपको और नीतीश कुमार को तुरंत इस्तीफ़ा कर देना चाहिए। दो साल से शराबबंद है और फिर भी शराब माफ़िया हावी हैं तो यह नीतीश कुमार का विशुद्ध failure है। राज्य में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पर हमला होता है इसका दोषी भी विपक्षी? फिर आप लोग कुर्सी पर क्या ख़ज़ाना लूटने बैठे हुए है?

जदयू और बीजेपी वालों के घर पति-पत्नी का झगड़ा भी होता है तो कहते है तेजस्वी यादव ने करवाया है। देख लो, तेजस्वी यादव कितना ताक़तवर है और ये कहते है कि राजद कमज़ोर है। सुशील मोदी जी, नीतीश कुमार का इक़बाल ख़त्म हो चुका है। जनता उनका चेहरा नहीं देखना नहीं चाहती क्योंकि नीतीश कुमार चोरी की हुई सरकार चला रहे है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *