लालू पर सुशील मोदी का एक और आरोप मिसाइल

जदयू और भाजपा के आपसी रिश्ते ठीक हों या खराब, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी राजद अध्यक्ष लालू यादव पर आरोपों के बाण छोड़ते रहते हैं. मोदी ने अपने ताज़ा हमले में लालू परिवार के खिलाफ जमीन के अनियमित लेनदेन के आरोप लगाए हैं. उन्होंने दावा किया कि बिहार के सबसे बड़े जमींदार आज के दिन लालू ही हैं.
बिहार के उप मुख्यमंत्री मोदी ने कहा है कि राजद शासन के वक़्त लालू ने कई बैनामा रजिस्ट्री के जरिए पटना के पास करीब 2.5 एकड़ जमीन खरीदी थी. उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ साल पहले उस जमीन को लालू यादव के छोटे बेटे और तेजस्वी यादव के नाम कर दिया गया. यह 91 साल की अवधि के लिए किया गया, इसके लिए उस व्यक्ति को सालाना महज 20,000 रुपये की रकम अदा करनी होगी.
लालू प्रसाद के बड़े भाई के दामाद को भी लपेटते हुए मोदी ने आरोप लगाया है कि इनके पक्ष में क्रियान्वित डीड के जरिए जमीन खरीदी गई, जो यहां एक पशुविज्ञान कॉलेज में चतुर्थ श्रेणी के कर्मी थे. मोदी ने कहा, 13 जून 2012 को कुल छह लोगों के मालिकाना हक वाली जमीन के पूरे हिस्से की लीज तेजस्वी यादव के नाम कर दी गई. पट्टे की अवधि 31 मई 2101 को खत्म होगी यानी जब राजद के संभावित उत्तराधिकारी 110 साल के हो चुके होंगे. उन्होंने कहा कि समूची अवधि के लिए तेजस्वी की ओर से भुगतान किया जाने वाला सालाना किराया महज 20,000 रुपये तय किया गया है.
मोदी ने पूछा है कि कौन लाखों की जमीन खरीदकर उसे किसी को कौड़ियों के भाव लीज पर दे देगा? साफ तौर पर राजद सुप्रीमो ने जमीन खरीदने के लिए अपना काला धन भेजा, दूर-दराज के रिश्तेदारों के नाम इसे पंजीकृत कराया ताकि आयकर के झमेलों से बच सकें.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *