सोनिया गांधी ने गडकरी को पत्र लिखकर कहा धन्यवाद

केंद्र में सत्ता बदलते ही राजनेताओं और उनके संसदीय क्षेत्रों के हालात भी बदल जाते हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी और सोनिया गांधी की रायबरेली के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। कांग्रेस की हार के बाद दोनों संसदीय क्षेत्रों में विकास की रफ्तार धीमी पड़ गई। यहां तक वहां के कुछ प्रोजेक्ट भी महाराष्ट्र शिफ्ट हो गए।
हालांकि, इन सब के बीच इसमें कुछ अपवाद भी हैं। इस बात को सोनिया गांधी ने खुद स्वीकार किया है। रायबरेली से सांसद सोनिया ने अभी तक अपने संसदीय क्षेत्र में कई प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने के लिए विभिन्न मंत्रालयों को पत्र लिखती रही हैं। लेकिन उसका कोई जवाब नहीं मिला। कुछ दिन पहले उन्होंने अपने एक निवेदन पर सकारात्मक प्रतिक्रिया के लिए मोदी सरकार के एक केंद्रीय मंत्री को धन्यवाद का पत्र भेजा है।
बता दें कि सोनिया गांधी ने 10 अगस्त, 2018 को रोड ट्रांसपोर्ट, हाइवेज एंड शिपिंग मंत्री नितिन गडकरी को फैजाबाद जिले में नेशनल हाइवे 330A को फोर लेन का करने की सरकार की योजना को लेकर मार्च में गडकरी को एक पत्र लिखा था। सोनिया ने गडकरी से अपने संसदीय क्षेत्र में आने वाले इस नेशनल हाइवे के लगभग 47 किलोमीटर के हिस्से को चौड़ा करने को लेकर निवेदन किया था। अपने पत्र में उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया था कि इससे अयोध्या-फैजाबाद की यात्रा करने वालों लोगों को भी सुविधा होगी। सोनिया ने गडकरी से रायबरेली में नेशनल हाइवे 232, 232A और 330A को फोर लेन का बनाने पर विचार करने का निवेदन किया था।
इसके जवाब में गडकरी ने 20 जुलाई को सोनिया को पत्र के जरिए बताया कि उन्होंने इस निवेदन पर विचार किया है। रायबरेली में आने वाले क्षेत्रों को फोर लेन का करने के लिए कदम उठाया जाएगा। इसके बाद सोनिया ने गडकरी को धन्यवाद का पत्र लिखा और उम्मीद जताई कि वह इस क्षेत्र में हाइवे को फोर लेन का बनाने के काम में तेजी लाएंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *