कभी-कभी राजनीति में कठोर फैसला लेना पड़ता है- तारिक अनवर

एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार के बयान से आहत होकर पार्टी से इस्तीफा देनेवाले तारिक अनवर ने आज एक बार फिर कहा है कि कई बार ऐसी स्थितियां उत्पन्न हो जाती हैं कि कुछ कठोर फैसला लेना पड़ता है।

उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, ये काफी कठिन फैसला था, उस पार्टी को छोड़ना जिसमें मैंने 20 साल बिताए हैं। पार्टी ने मुझे बहुत सम्मान और आदर भी दिया है। शरद पवार ने मुझे विशेष रूप से हर मौके पर तरजीह दी है। मैं हमेशा उनका एहसानमंद रहूंगा। लेकिन इन दिनों रफाल को लेकर पूरे देश में आंदोलन चल रहा है और सारा विपक्ष एकजुट है।

उन्होंने आगे कहा, इस मामले को लेकर एक बयान शरद पवार का आया था तो मैंने सोचा कि उनके बयान का खंडन भी आ जाएगा। लेकिन 24 घंटे तक उसका कोई खंडन नहीं आया, इसी बीच में बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने शरद पवार के बयान का स्वागत भी कर दिया। हालांकि बाद में पार्टी की ओर से यह खंडन भी आया है कि शरद पवार के कहने का वो अर्थ नहीं था लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *