अलग पार्टी बना सकते हैं शिवपाल यादव !

मिशन 2019 के लोकसभा चुनाव में लगी सभी पार्टियों के लिए उत्तर प्रदेश अहम है। बीजेपी इस राज्य में अपनी पार्टी और सहयोगियों के साथ बातचीत कर हर मुद्दे पर फोकस कर रही है। वहीं दूसरी ओर विपक्षी पार्टियां सपा, बसपा और कांग्रेस महागठबंधन को लेकर गंभीरता से आगे बढ़ रहे हैं। इन सब के बीच सूबे में दमदार पकड़ रखने वाली पार्टी सपा से जो खबरें बाहर आ रही हैं वह विपक्ष का खेल बिगाड़ सकती है। बताया जा रहा है कि पिछले लंबे समय से समाजवादी पार्टी में चल रही उठापटक के बीच अलग-थलग पड़े शिवपाल यादव और उनके समर्थकों की गतिविधियां अचानक तेज हो गई हैं। प्रदेश भर में शिवपाल यादव के नाम से कई संगठन बन चुके हैं, जो अपनी अलग गतिविधि चला रहे हैं। जिन्हें परोक्ष तौर पर शिवपाल यादव का वरदहस्त भी प्राप्त है। शिवपाल ने कई मौकों पर कहा है कि उनसे जुड़े हजारों कार्यकर्ता पार्टी में उपेक्षित महसूस कर रहे हैं उन्हें तरजीह नहीं दी जा रही है। जानकारों की मानें तो शिवपाल काफी लंबे समय से हाशिए पर हैं और उन्हें अब सुलह की कोई उम्मीद भी नजर नहीं आ रही है। सूत्रों के अनुसार दिवाली के बाद शिवपाल नई पार्टी बना सकते हैं।
उधर, शिवपाल यादव के करीबी और सपा के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह भी इन दिनों बीजेपी के कार्यक्रमों में दिख रहे हैं। इतना ही नहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ भी उनकी नजदीकियां बढ़ती दिख रही है। ऐसे में शिवपाल यादव को लेकर कयास तेज हो गए हैं कि वह अलग पार्टी बना सकते हैं। या फिर क्या महागठबंधन होने की स्थिति में तीसरे मोर्चे के तौर पर यूपी में सामने आएंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *