अब EVM की विश्वसनीयता पर शत्रुघ्न ने उठाए सवाल

बीजेपी सांसद शत्रुघ्न sinhसिन्हा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर लगातार हमला कर रहे हैं. पार्टी लाइन के इतर बोलते दिखाई देते हैं. एक बार फिर उन्होंने अपनी ही पार्टी भाजपा तथा प्रधानमंत्री पर लगातार कटाक्ष किया है। इस बार उन्होंने चुनावों में इस्तेमाल हो रही ईवीएम का मुद्दा उठाया है। मुद्दा भी तब उठाया है जब, इस समय उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव चल रहे हैं और गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इन चुनावों में ईवीएम का इस्तेमाल किया जा रहा है। शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा, यूपी, दिल्ली और मध्य प्रदेश में दोषपूर्ण ईवीएम के इस्तेमाल के बाद फिर से यूपी निकाय चुनावों में उन्हीं मशीनों का इस्तेमाल हो रहा है। यह क्या हो रहा है?

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि चुनाव आयोग को आगे आकर चुनाव प्रणाली खासकर गुजरात चुनाव में लोगों की विश्वसनीयता को कायम रखने के लिए अधिक सतर्कता के साथ काम करने होंगे। इससे पहले वे हरियाणा के ईमानदार आईएएस अधिकारी अशोक खेमका के 51वें ट्रांसफर पर उन्होंने मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि हमारे 'वन मैन शो' और 'टू मैन आर्मी' ईमानदारी पर क्या कर रही है। 'मन की बात' कार्यक्रम के माध्यम से भी शत्रुघ्न सिन्हा प्रधानमंत्री पर भी तंज कस चुके हैं। उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा, 'मैं दिल की बात करूंगा क्योंकि मन की बात पर तो किसी का पेटेंट है।'

सिन्हा ने मोदी सरकार पर करारा वार करते हुए कहा कि इसके मंत्री ‘‘खुशामदीदों की टोली’’ हैं, जिनमें से 90 फीसदी को कोई नहीं जानता। भ्रष्टाचार के खिलाफ मोदी के बहुचर्चित नारे ‘ना खाऊंगा, ना खाने दूंगा’ पर कटाक्ष करते हुए सिन्हा ने कहा, ‘‘आजकल हो ये रहा है कि ‘ना जियूंगा, ना जीने दूंगा।’ गुजरात चुनाव पर भी वह बीजेपी पर निशाना साध चुके हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी एवं नोटबंदी को लेकर गुस्सा है और यह बात साफ है कि गुजरात विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए महज ‘चुनाव’ नहीं बल्कि एक ‘चुनौती’ है। सरकार के मंत्रियों पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि उनमें से 90 फीसदी को कोई नहीं जानता। उन्हें भीड़ में कोई नहीं पहचानेगा। वे चाटुकारों की टोली हैं। वे वहां कुछ बनाने के लिए नहीं हैं, बस बने रहने की कोशिश में लगे हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *