बिहार में गरजे शरद, दिल्ली में जदयू ने कहा सदस्यता खत्म करो

-उद्योग मंत्रालय की संसदीय समिति के अध्यनक्ष पद से हटाये गये शरद यादव

इधर शरद यादव अंधेरनगरी बिहार में घूम-घूमकर चौपट राजा नीतीश को एक्स्पोज कर रहे हैं, वहां दिल्ली में जेडीयू ने बागी नेता शरद यादव को उद्योग मामलों की संसदीय समिति के अध्यक्ष पद से हटा दिया है। शरद यादव की जगह जदयू द्वारा राज्यसभा में पार्टी के संसदीय दल के नेता बनाये गए आरसीपी सिंह को इस समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार द्वारा बिहार में महागठबंधन को तोड़कर भाजपा के साथ गठजोड़ करने के फैसले का विरोध कर रहे यादव को पार्टी ने राज्यसभा के सभापति एम वैंकेया नायडू से राज्यसभा की सदस्यता के लिए भी अयोग्य करार देने का अनुरोध किया है।जदयू की इस अर्जी पर नायडू ने अभी कोई फैसला नहीं किया है।

संसदीय समितियों में फेरबदल के दायरे में कांग्रेस भी आई है। इसके तहत चुनाव सुधार के मुद्दे को देख रही विधि मामलों पर संसदीय समिति की अध्यक्षता कांग्रेस से छिन गई है।फिलहाल पांच संसदीय समितियों की अध्यक्षता विपक्षी दलों के पास है जबकि इस मामले में भाजपा का आंकड़ा 10 तक पहुंच गया है। वहीं भाजपा और उसके सहयोगी दलों के पास संसद की 14 स्थायी समितियों की अध्यक्षता है जबकि विपक्षी दलों के सदस्य 10 समितियों के अध्यक्ष हैं।

राज्यसभा बुलेटिन के अनुसार विभिन्न विभागों से जुड़ी लोकसभा और राज्यसभा की कुल 24 स्थायी समितियों में 10 की अध्यक्षता भाजपा सदस्यों के पास है। वहीं, कांग्रेस के पास पांच, टीएमसी के पास दो और शिवसेना, शिरोमणि अकाली दल, समाजवादी पार्टी, जदयू, अन्नाद्रमुक, बीजद और तदेपा के पास एक एक स्थायी समिति की अध्यक्षता है। हालांकि गृह, विदेश और वित्तप मामलों से जुड़ी अहम समितियों की अध्यक्षता कांग्रेस के पास है, जबकि भाजपा सदस्य बीसी खंडूरी को रक्षा मामलों से जुड़ी संसदीय समिति के अध्यक्ष पद पर एक और कार्यकाल दिया गया है।

इसके अलावा कांग्रेस सदस्य पी चिदंबरम, शशि थरूर और एम वीरप्पा मोइली को भी गृह, विदेश और वित्त मामलों की समित के अध्यक्ष पद का एक अतिरिक्त कार्यकाल दिया गया है। भाजपा सदस्य भूपेन्द्र यादव को कार्मिक एवं जनशिकायत, विधि एवं न्याय मामलों से जुड़ी संसदीय समित का अध्यक्ष बनाया गया है।यादव को कांग्रेस सदस्य आनंद शर्मा की जगह इस समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। शर्मा अब विज्ञान एवं तकनीकी और पर्यावरण एवं वन मामलों से जुड़ी संसदीय समिति की अध्यक्षता करेंगे। अब तक यह जिम्मेदारी कांग्रेस सदस्य रेणुका चौधरी के पास थी।

शरद यादव की अध्यक्षता वाली वाणिज्य मामलों की संसदीय समिति का अध्यक्ष अब अकाली दल सदस्य नरेश गुजराल को बनाया गया है। टीएमसी के सदस्य डेरिक ओ ब्रायन को परिवहन, पर्यटन और संस्कृति मामलों की समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। फिलहाल इस समिति के अध्यक्ष टीएमसी के सदस्य मुकुल रॉय थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *