थक हारकर शरद बनाएंगे नई पार्टी

जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव तकनीकी लड़ाई में हार कर अब नई पार्टी बनाने का रास्ता चुन रहे हैं। एक सप्ताह के अंदर नई पार्टी बनाने की प्रक्रिया शुरू होगी। शरद गुट के महासचिव अरुण श्रीवास्तव ने कहा है कि चुनाव आयोग में जदयू पर दावे की कानूनी लड़ाई जारी रहेगी, लेकिन यह लड़ाई लंबी होगी इसे देखते हुए हम लोगों ने नई पार्टी बनाने का फैसला किया है ताकि हमारे राजनीतिक उद्देश्य में कोई दिक्कत ना आए।

शरद यादव ने भी सोमवार को अपने गुट की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कहा था कि एक सप्ताह के अंदर नई पार्टी के गठन की प्रक्रिया शुरु हो जाएगी।
दरअसल शरद यादव की राजनीति चौराहे पर खड़ी है, उन्हें और उनके समर्थकों को पता है कि तकनीकी तौर पर जदयू से जीतना संभव नहीं है। संख्याबल में भी वह कमजोर हैं ऐसे में शरद गुट की रणनीति यह है कि राजनीतिक पहचान बनाए रखने के लिए नई पार्टी बना ली जाए और राजद या ऐसे ही अन्य सहयोगियों के साथ आगे की यात्रा की जाए।

गुजरात में शरद गुट ने नेशनल ट्राइबल पाटी के उम्मीदवार के रूप में अपने लोगों को खड़ा किया है। कांग्रेस के साथ 2 सीटों पर साझा हुआ है।

शरद की असली परीक्षा बिहार में है, जहां उन्हें लालू प्रसाद के साथ सियासी यात्रा करने की मजबूरी होगी। शरद समर्थकों को लग रहा है कि पहले नई पार्टी बनाकर शरद के चेहरे के साथ उसे पब्लिक डोमेन में ले जाया जाए, उसके बाद राजद के साथ सीट शेयर कर चुनाव में जाया जाए। यह तो तय है शरद की लड़ाई नीतीश और एनडीए से होगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *