तीर नीतीश के पास, आयोग से शरद गुट को झटका

चुनाव आयोग ने आज जनता दल से अलग हुए शरद यादव गुट को करारा झटका दे दिया| चुनाव आयोग ने नीतीश कुमार की अध्यक्षता वाली जदयू को ही असली जदयू माना और इसके चुनावी सिम्बल तीर छाप पर भी नीतीश कुमार का ही अधिकार माना| इस सियासी जीत से जदयू समर्थकों में ख़ासा उत्साह है| वहीं शरद यादव समर्थकों में मायूसी है| राजनीतिक लोगों को अब इस बात का इन्तजार है कि आखिर अब शरद यादव गुट बिहार में अगला कदम क्या उठाएगा!

बिहार में बहुत सारे लोगों को सियासी अंदेशा था, ऐसे विघ्न संतोषियों को लग रहा था कि अगर उत्तरप्रदेश में सपा की तरह कहीं जदयू का इलेक्शन सिम्बल तीर शरद गुट के हाथों चला गया तो बिहार की सियासत में उथल-पुथल मच जायेगा| अब जब कि स्थिति स्पष्ट हो चुकी है जदयू के नेता एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं|

अब सवाल है कि चुनाव आयोग से हारने के बाद शरद यादव कौन सा रास्ता अख्तियार करेंगे! राज्य सभा सभापति अब जल्द ही निर्णय लेंगे और माना जा रहा है कि शरद यादव और अनवर अली की राज्यसभा सदस्यता जायेगी| इस तरह अब शरद के सामने दो ही विकल्प हैं या तो वे राजद के साथ कोई संयुक्त मोर्चा बनाएं या स्वतंत्र सियासी रास्ता बनाकर नाराज़ समाजवादियों का राजनीतिक विकल्प बनाएं| ऐसा नहीं हुआ तो शरद यादव धीरे धीरे अपनी प्रासंगिकता खो बैठेंगे|

नीतीश की अध्यक्षता वाली जदयू का सिम्बल बरकरार रहने के बाद दिल्ली में पार्टी कार्यालय जंतर मंतर में युवा जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार, कार्यालय सचिव मिथिलेश प्रसाद, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष नरसिंह साह, आशीष रंजन सिंह, महिला नेत्री मालती राय, नागेन्द्र कुमार समेत बड़ी संख्या में नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस जीत पर एक दूसरे को मिठाई खिलाकर ख़ुशी का इज़हार किया|

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *